1. सरकारी योजनाएं

हरियाणा सरकार ने किसानों को किया इतने हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान

किशन
किशन
haryana Govt

हरियाणा की बीजेपी सरकार ने राज्य के विधानसभा चुनावों से पहले किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. दरअसल राज्य सरकार ने किसानों के लिए 4 हजार 750 करोड़ रूपए के विशेष पैकेज का ऐलान कर दिया है. इसके अलावा तीन स्कीम में क्रॉप लोन के ब्याज और पूरी पेनाल्टी को भी माफ कर दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान किसानों के लिए इस तरह के ऐलान किए है. इस घोषणा के बाद राज्य के 10 लाख  किसानों को फायदा पहुंचने की उम्मीद है.

किसानों को होगा भारी फायदा

जन आशीर्वाद यात्रा भिवानी में मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि हमने किसानों के लिए कुल पांच हजार करोड़ रूपए के विशेष पैकेज का ऐलान किया है. इससे किसानों को काफी राहत मिलेगी. साथ ही दस लाख से ज्यादा किसानों को इसका सीधा फायदा होगा. बता दें कि प्रदेशभर के 13 लाख किसानों ने लोन लिया था. इसमें से कुल 8 लाख 25 हजार किसानों के खाते में एनपीए घोषित हो चुके है. सरकार ने भी इनका सात प्रतिशत ब्याज और पांच प्रतिशत पेनल्टी को माफ कर दिया है. अब किसानों को ब्याज और पेनाल्टी  नहीं देनी होगी. किसानों को इससे 2500 करोड़ रूपए का फायदा होगा.

haryana mukhmantri

30 नवंबर तक देना होगा पैसा

जिन भी किसानों ने 10 लाख  से ऊपर का कर्ज लिया है उनको 10 फीसदी ब्याज चुकाना होगा, हालांकि उन पर किसी भी तरह की कोई भी पेनाल्टी नहीं लगाई जाएगी. कर्ज की राशि को जमा करने की आखिरी तारीख 30 नवंबर तय की गई है.

लोन पर पेनाल्टी माफ

राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जिला को ओपरेटिक सेंट्रल बैंक से लिए गए फसलों के लोन पर भी लगी हुई सारी पेनाल्टी को पूरी तरह से माफ करा है, इसके एवज में 1800 करोड़ रूपये का ऐलान कर दिया है. बता दें कि 85 हजार किसानों ने डीसीसीबी के सहारे लोन ले लिया है. जिसमें से 32 हजार के अकाउंट एनपीए के तहत घोषित हो चुके है.सीएम ने कहा कि 5 लाख से अधिक का लोन लेने वाले किसानों को अब 12 से 15 प्रतिशत ब्याज की जगह केवल सिर्फ दो प्रतिशत का ब्याज देना होगा.

English Summary: Haryana government gave a big gift to farmers, know the whole thing

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News