MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

किसानों को पानी की कमी से मिलेगा निजात, वॉटर टैंक बनाने के लिए सरकार दे रही 75000 रुपये!

किसानों को कम से कम 1 लाख लीटर पानी भरने की क्षमता की टंकी बनाने पर प्रति यूनिट लागत का 60 प्रतिशत मिलेगा. वहीं राज्य सरकार लागत का लगभग 10 प्रतिशत तक अनुदान देगी. पानी की टंकी के लिए किसानों को अधिकतम 75,000 रुपये का अनुदान मिलेगा.

रुक्मणी चौरसिया
रुक्मणी चौरसिया
Water Tank
Water Tank

सरकार हमेशा ही किसानों के हित के लिए योजनाएं लाती रहती है. जिसमें से एक है राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (RashtriyaKrishiVikasYojana) है. दरअसल, जहां एक तरफ राजस्थान (Rajasthan) के किसानों को पानी की कमी का सामना करना पड़ता है. वहीं इस समस्या का हल निकल गया है. जी हां, राज्य सरकार ने राजस्थान के किसानों को वॉटर टैंक (Water Tank) बनाने के लिए आर्थिक मदद देने (Economic Help) का ऐलान किया है.

1 लाख लीटर पानी की क्षमता और 75000 रुपये का ग्रांट

राज्य किसानों को राष्टीय कृषि विकास योजना (RashtriyaKrishiVikasYojana) के तहत अब वॉटर टैंक  (Water Tank)  बनाने में सक्षम हो सकेंगे. राज्य सरकार के अधिकारियों के अनुसार सभी वर्ग के किसानों को कम से कम 1 लाख लीटर पानी भरने की क्षमता की टंकी (1 lakh liter water tank) बनाने पर प्रति यूनिट लागत का 60 प्रतिशत मिलेगा. वहीं राज्य सरकार लागत का लगभग 10 प्रतिशत तक अनुदान देगी. बता दें कि पानी की टंकी के लिए किसानों को अधिकतम 75,000 रुपये का अनुदान मिलेगा. 

कौन होंगे इसके लाभार्थी (Who will be its beneficiaries)

इस योजना के लिए सभी वर्ग के किसान सक्षम तो है ही पर इसका लाभ उन्हें ही मिल सकेगा जिसके पास कम से कम अपनी आधी एकड़ जमीन हो. वॉटर टैंक बनाने से किसानों को पानी की कमी नहीं होगी और उत्पादन बेहतर हो सकेगा.

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना क्या है ( What is Rashtriya Krishi VikasY ojana)

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (RashtriyaKrishiVikasYojana) 4% वार्षिक कृषि विकास प्राप्त करने में कृषि क्षेत्र को सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी. RKVY योजना वर्ष 2007 में शुरू की गई थी.

इस योजना ने राज्य कृषि योजना और जिला कृषि योजनाओं की शुरुआत के माध्यम से कृषि क्षेत्र में विकेन्द्रीकृत (decentralized) योजना की सुविधा प्रदान की.

यह योजना उपयुक्त प्रौद्योगिकी और प्राकृतिक संसाधनों (Appropriate technology and natural resources) की उपलब्धता सुनिश्चित करने वाली कृषि-जलवायु परिस्थितियों पर आधारित है और इस प्रकार स्थानीय आवश्यकताओं के लिए आवास प्रदान करती थी.

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के उद्देश्य (RashtriyaKrishiVikasYojana Objectives)

  • खेती को आर्थिक गतिविधि के मुख्य स्रोत के रूप में विकसित करना है.

  • जोखिम शमन, कृषि-व्यवसाय उद्यमिता (agri-business entrepreneurship) को बढ़ावा देने के साथ-साथ कृषि-बुनियादी ढांचे के निर्माण के माध्यम से किसानों के प्रयासों को मजबूत करना है.

  • सभी राज्यों को उनकी स्थानीय जरूरतों के अनुसार योजना बनाने में स्वायत्तता और लचीलापन प्रदान करना है.

  • उत्पादकता को प्रोत्साहित करके और मूल्य श्रृंखला से जुड़े उत्पादन मॉडल को बढ़ावा देकर उनकी आय बढ़ाने में किसानों की मदद करना है.

  • मशरूम की खेती, एकीकृत खेती, फूलों की खेती आदि के माध्यम से आय बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर किसानों के जोखिम को कम करना है.

  • विभिन्न कौशल विकास, नवाचार और कृषि-व्यवसाय मॉडल के माध्यम से युवाओं को सशक्त बनाना है.

कैसे करें अप्लाई?

जिन भी किसानों को इस योजना (Rashtriya Krishi Vikas Yojana) का लाभ लेना है वो अपने आस पास के इ-मित्र सेंटर (E-MitraCenter) जाकर अप्लाई कर सकते है. यदि आपको जाने का समय नहीं है तो आप इसमें ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं. ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आपको https://rkvy.nic.in/ पर जाना होगा. दोनों ही प्रक्रिया में जरुरी दस्तावेज़ जैसे आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड और जमाबंदी की नक़ल शामिल है. बस यह ध्यान रखें की जमाबंदी की नक़ल 6 महीने से अधिक पुरानी ना हो.

English Summary: Farmers will get relief from water shortage, government is giving 75000 rupees for making water tank! Published on: 15 December 2021, 12:34 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News