Government Scheme

4,400,000 सब्सिडी लेकर कृषि व्यवसाय शुरू करने के लिए करें आवेदन

किसानों की आय में बढ़ोतरी करने के लिए एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र शुरुआत की गई है. इसकी शुरूआत की परिकल्पना में किसानों के सभी पहलुओं जैसे विशेषज्ञों की सलाह, मृदा स्वास्थ्य, फसल पद्धति, पौध सुरक्षा, उपज के पश्चात भंडारण, पशुओं के लिए उपचार सुविधाएं और  रोजगार आदि की जानकारी का उचित ध्यान रखा गया है. 

कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कृषि स्नातकों एवं कृषि संकाय से हायर सेकेंडरी उत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए कृषि क्लिनिक तथा कृषि व्यवसाय केन्द्र (ए.सी. एण्ड ए.बी.सी.) योजना की शुरूआत की है. इच्छुक लोगों को इस योजना के तहत 45 दिन तक प्रशिक्षण दिया जाता है. इसके लिए सभी राज्यों में कई केन्द्रों की स्थापना की गई है. किसान भाई केंद्रों की जानकारी लिंक https://www.acabcmis.gov.in/Institute.aspx  पर विजिट करके प्राप्त कर सकते हैं. इन सभी प्रशिक्षण केंद्रों को सरकार के कृषि मंत्रालय के संगठन राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंध संस्थान (मैनेज) हैदराबाद के साथ जोड़ा गया है.

बता दें, प्रशिक्षण (Training) के बाद आवेदकों को खेती बाड़ी से संबंधित व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रशिक्षण संस्थान नाबार्ड से ऋण लेने के लिए पूरी मदद करते हैं. व्यवसाय शुरू करने के लिए आवेदकों (उद्यमियों) को व्यक्तिगत रूप से 20 लाख रूपए और पांच व्यक्तियों के समूह को 1 करोड़ रूपए तक का लोन दिया जाता है. बता दें, इस लोन पर सामान्य वर्ग के आवेदकों को 36 प्रतिशत और अनुसूचित जाति, जनजाति तथा महिला वर्ग के आवेदकों को 44 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है.

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय शुरू करने से पहले प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है. आवेदक अपनी सुविधा के अनुरूप ट्रेनिंग सेंटरों का चयन कर सकते हैं. यदि आवेदक प्रशिक्षण के उपरान्त कृषि क्लिनिक या कृषि व्यवसाय केंद्र खोल सकता है. अधिक जानकारी के लिए किसान 1800-425-1556 टोल फ्री नम्बर पर भी बात कर सकता है.

आवेदन करने के लिए इस लिंक पर विजिट करें :- https://www.acabcmis.gov.in/ApplicantReg.aspx

ध्यान दें, आवेदन करते समय आवेदक आधार कार्ड नम्बर,  ई-मेल आईडी, शैक्षणिक योग्यता, फोटो और बैंक अकाउंट पासबुक साथ रखें.



English Summary: Apply for starting an agri clinic and agri business with a subsidy of 4,400,000

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in