1. खेती-बाड़ी

हाईटेक नर्सरी के शिमला मिर्च की खेती से पायें दोहरा मुनाफ़ा

भारत सरकार और राज्य सरकार के मदद से उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के बंजरिया क्षेत्र में इजराइली तकनीक की मदद से नर्सरी में अब पौधे निकलने लगे है. इजराइल की उच्च तकनीक से उगे पौधे अब किसानो के लिए तैयार हो गए है. कुल मिलाकर अब इसका संकट कम होने वाला है. अब किसान सीधे तैयार पौधों को लेकर खेती कर सकते है. विशेषज्ञों का मानना है की इजराइली तकनीक से फसल का ज़्यादा उत्पादन हो सकता है.

उत्तरप्रदेश का बस्ती ऐसा करने वाला पहला जिला बन गया है जहां पर इजराइली तकनीक से गुणवत्ता युक्त सब्जी के पौधे तैयार कर किसानों को दिया जा रहा है.7 करोड़ 40 लाख रुपये से तैयार हुए सेंटर आफ एक्सीलेंस फार फ्रूट पाली हाउस में कई यूनिट है. इसके लिए अलग से हाईटेक नर्सरी लगाई गई है. सरकार के साथ उद्यान विभाग की भी मंशा है की राज्य में किसानों को सहूलियत देकर सब्जी का उत्पादन बढ़ाया जाय. पाली हाउस के प्रभारी उद्यान निरीक्षक धर्मेंद्र चंद्र चौधरी ने बताया कि पौधे पूर्णरूप से रोग मुक्त हैं और इनकी उत्पादन की क्षमता बेहतर है. किसान आकर प्राप्त कर सकते हैं. शिमला मिर्च, फूलगोभी, पत्तागोभी, बैगन, टमाटर, हरी मिर्च, पपीता के पौधे तैयार हैं.

इजराइली तकनीक से तैयार किये हुए शिमला मिर्च 2 रु.,फूलगोभी 1.50 रु.,पत्तागोभी 1.50 रु.,टमाटर 1.50 रु.,बैगन 1.50 रु.,मिर्च 1.50 रु.,पपीता 17 रु. की दर से मिल रहे है. किसानों की आय दोगुनी करने के लिए ये सरकार की एक बेहतर पहल है. अब बस्ती जिला सब्जी उत्त्पादन का हब बनेगा. रोपे गए पौधों में से बहुत ही कम समय में सब्जी निकलने लगेगा.

डा. आरके तोमर, संयुक्त निदेशक उद्यान

प्रभाकर मिश्र, कृषि जागरण

English Summary: Get a double profit from the cultivation of capsicum of Hitech Nursery

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News