कपास की फसल में सोयोबीन टॉनिक का स्प्रे है अत्यंत लाभकारी

देश में कपास की खेती काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है. देश में किसान काफी संख्या में कपास की खेती करते हैं. कपास की खेती मुख्य तौर पर महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, उत्तर प्रदेश में की जाती है. इस वक्त कपास की फसल तीन महीने की हो चुकी है, इस वक्त फसल में फूल आ रहे हैं और डोडे बनने की शुरूआत हो चुकी है. कपास के फसल के लिए अच्छी ग्रोथ और उत्पादन हो सके इसलिए इसमें सोयाबीन टॉनिक का स्प्रे करना आवश्यक है. सोया टॉनिक का स्प्रे मैं अपने फसल पर करने जा रहा हू और आप सभी किसान साथियों से अनुरोध करता हूं की वो भी इसका प्रयोग करें बहुत ही अच्छा परिणाम मिलेगा.

आवश्यक सामग्री

1 किलोग्राम सोयाबीन, 250 ग्राम गुड़, और 5 लीटर पानी

बनाने का तरीका -

सोयाबीन टॉनिक बनाने के लिए हमें सबसे पहले एक किलो सोयाबीन लेना है और उस सोयाबीन को पानी के अंदर 24 घंटे तक रखना है. इससे सोयाबीन का दाना पूरी तरह से फूल जाएगा, और फिर इसे अच्ची तरह से पीसकर चटनी बनाना है. चटनी बनाने के बाद में जिस बर्तन में हमने सोयाबीन को 24 घंटे तक रखा था उस पानी और 5 लीटर पानी को लेकर हमें उस बर्तन में ले लेना है जिसमें हम टॉनिक तैयार करना चाहते हैं उस चटनी को उस पानी के अंदर डाल देना है जो हमारे पास 250 ग्राम गुड़ है उसको भी इसमें डाल देना है और इस को 3 से 4 दिन सुबह शाम लकड़ी की सहायता से हिलाना है 3 से 4 दिन बाद मे यह टॉनिक पूरी तरह से तैयार हो जाएगा फिर सूती के कपड़े में इसे अच्छे से छानकर फसल ले कर देना है इसकी मात्रा प्रति 16 लीटर वाले पंप में 500ML मिलाकर स्प्रे करना है.

फसल को फायदा -

सोयाबीन में पोषक तत्व जैसे नाइट्रोजन, कैल्शियम, सल्फर इत्यादि प्रचुर मात्रा में होते है जिसकी फसल को बहुत ज्यादा आवश्यकता होती हैं और इस तकनीकी के कारण फसल में फूल वाली अवस्था में स्प्रे करते हैं तो ज्यादा फूल आते हैं और पौधा अच्छी ग्रोथ करता है यह टॉनिक सभी फसलों के लिए बहुत ही सहायक होता है.

लेखक :

नारायण लाल धाकड़

प्रगतिशील और युवा किसान चित्तौड़गढ़ राजस्थान

Mobile number - 9680650143

जिम्मी (पत्रकार) कृषि जागरण के द्वारा एडिट

Comments