MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. कंपनी समाचार

स्टिल इंडिया ने खेती में तकनीकी परिवर्तन के लिए प्रारंभ की 'परिवर्तन यात्रा'

कृषि में कृषि यंत्रों ने न केवल उन्नत फसलों में सहयोग दिया है बल्कि किसानों की पैदावार में भी इन यंत्रों का बड़ा सहयोग है. स्टिल इंडिया भी इसी कार्ययोजना में प्रधानमंत्री के किसानों की डबल इनकम मिशन में अग्रणी बन कर खड़ा है.

KJ Staff
Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture
Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture

कृषि पॉवर यंत्रों और उपकरणों की विस्तृत श्रृंखला के प्रसिद्ध निर्माता, स्टिल इंडिया ने हाल ही में एक महीने लंबी पहल- 'परिवर्तन यात्रा' शुरू की है, जो 20 दिनों तक चलने वाला अभियान है. प्रौद्योगिकी अपनाने और किसानों की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव लाने के लक्ष्य के साथ यह यात्रा कटक, ढेंकनाल, संबलपुर, सुंदरगढ़ सहित ओडिशा के प्रमुख जिलों से होकर गुजरेगी.

परिवर्तन यात्रा को एक वाहन को रवाना करके प्रारंभ किया गया,  जिस पर सभी कृषि उत्पाद रखे हुए थे। इस वाहन को चौद्वार विधायक सौविक बिस्वाल ने कार्यकारी अभियंता, कृषि और जिला कृषि अधिकारी की उपस्थिति में हरी झंडी दिखाकर जिला कृषि कार्यालय, नयाबाजार कटक से रवाना किया। विधायक ने स्टिल इंडिया की पहल के पक्ष में बात की. उन्होंने विशेष रूप से ओडिशा में कृषि क्षेत्र में तकनीकी परिवर्तनों को देखकर प्रसन्नता व्यक्त की, जो बड़े पैमाने पर कृषक समुदाय के लिए फायदेमंद होगा।

खेती में तकनीकी प्रगति को बढ़ावा देने के लिए स्टिल इंडिया ने 'परिवर्तन यात्रा' शुरू की है. इस पहल का उद्देश्य अत्याधुनिक कृषि उपकरणों का प्रदर्शन करना, क्षेत्र प्रदर्शन करना और किसानों को सशक्त बनाने के लिए कम लागत वाले, सब्सिडी वाले उत्पाद पेश करना है। साथ ही कृषि पद्धतियों में क्रांति लाना और कृषक समुदाय को लाभ पहुंचाना भी इस यात्रा का लक्ष्य है. स्टिल इंडिया आधुनिक कृषि पद्धतियों के महत्व को पहचानता है और इसका उद्देश्य किसानों को तकनीकी ज्ञान प्रदान करने और खेतों में उत्पादकता और दक्षता बढ़ाने वाले उपकरणों के साथ सशक्त बनाना है.

यात्रा के दौरान, स्टिल इंडिया टीम द्वारा अपने अत्याधुनिक कृषि उपकरणों का क्षेत्र प्रदर्शन किया जाएगा, जिससे किसानों को इन उपकरणों का संचालन अपने खेतों में आसानी से करने में सुविधा होगी। इसके अतिरिक्त, अधिकृत डीलरशिप अधिकारी किसानों की चिंताओं और प्रश्नों का समाधान करने के लिए उपलब्ध रहेंगे।

Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture
Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture

स्टिल इंडिया कृषि यंत्रो और उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला का अग्रणी निर्माता है जिसमें चेन आरी, इलेक्ट्रिक हेज ट्रिमर, ब्रश कटर और अन्य उपकरण शामिल है. परिवर्तन यात्रा किसानों और उन्नत कृषि प्रौद्योगिकियों के बीच अंतर को पाटने के लिए एक मंच के रूप में काम करेगी. एवं कृषक समुदाय के लिए समग्र समृद्धि हेतु कृषि पद्धतियों में सुधार, पैदावार में वृद्धि में सहायक सिद्ध होगी.

ये भी पढ़ें: उन्नत खेती को समर्पित हैं स्टिल इंडिया के कृषि उपकरण

स्टिल कम्पनी के बारे में जानकारी-

एंड्रियास स्टिल, 96 साल पुरानी कम्पनी है जिसका मुख्यालय जर्मनी में है. यह कंपनी घर के बाहर प्रयुक्त होने वाले हस्त संचालित पावर उपकरण निर्माता अग्रणी वैश्विक कंपनियों में शामिल है. इन उपकरणों का व्यावसायिक लॉगिंग, लैंडस्केपिंग, बागवानी, कृषि एवं वृक्षारोपण में व्यापक रूप से प्रयोग होता है. साथ ही ये उपकरण रेलवे, आपदा प्रबंधन, आपातकालीन सेवाओं, स्वास्थ्य सेवाओं, नगर निगम और सेनाओं जैसे नौसेना, वायु सेना, और पुलिस आदि रक्षा प्रतिष्ठानों एवं वन सेवाओं जैसे सरकारी संस्थानों में उपयोग किए जाते है। 

Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture
Still India starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture

विभिन्न उपयोगकर्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत में स्टील कम्पनी के कई कार्यालय, गोदाम और 400 से अधिक अधिकृत सर्विसिंग डीलर हैं। उत्पाद विवरण और डीलर लोकेशन को जानने  के लिए कम्पनी की वेबसाइट www.stihl.in पर जाएं या 9028411222 पर कॉल करें।

English Summary: stihl india starts 'Parivartan Yatra' for technological change in agriculture Published on: 28 July 2023, 04:43 PM IST

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News