1. बाजार

कश्मीरी सेब के दाम हुए तय, किसानों को होगा मुनाफा

किशन
किशन

कश्मीर के सेब व्यापारियों और किसानों को अब उनके सेब की बेहतर कीमत मिलेगी. दरअसल केंद्र सरकार कश्मीरी सेबों के दामों को तय कर दिया है. सेब की खरीद के लिए नोडल एजेंसी राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ ने क्रमशः ए, बी, सी, डी चार ग्रेड के सेबों के लिए अलग-अलग दामों को तय कर दिया है. सरकार ने सेब के लिए 54 रूपए, 38 रूपए, और 15.47 रूपए के दाम तय किए है. नेफेड को कश्मीर के चार खरीद केंद्रों पर सेब के पंजीकरण और ग्रेडिंग में जम्मू-कश्मीर बागवानी योजना एवं विपणन विकास बोर्ड के सहारे सहायता प्रदान की जाती है.

अभी तक लागू थे सभी प्रतिबंध

बता दें कि इसकी घोषणा वैसे तो जम्मू-कश्मीर की सरकार ने पिछले माह 12 अगस्त में शुरू किया था. इस समय राज्य में अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद एहतियात के तौर पर कई तरह के प्रतिबंध लगे हुए थे. अभी तक तीन हजार से अधिक किसानों ने नेफेड और राज्यों के बागवानी विभाग में अपना पंजीकरण करवा सकते है. इस योजना के अंतर्गत ज्यादा किसानों को शामिल करने के लिए अब सेब के दामों को बढ़ाने का प्रस्ताव लाने जा रही है.

आठ हजार करोड़ होता है सेब का व्यापार

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि हम सभी सेबों के दामों में बढ़ोतरी का प्रस्ताव कर रहे है. इससे और ज्यादा किसानों के आगे आने की उम्मीद है, उन्होंने कहा कि उनको भरोसा है कि दरों में ठीक संशोधन हो जाने के बाद सी ग्रेड का दाम भी 20 से 22 रूपये तक पहुंच जाएगा जो कि अभी 15 रूपए तय किया गया है. बता दें कि कश्मीर में 3.87 लाख हेक्टेयर की खेती की जाती है, इसमें सालाना आट हजार करोड़ रूपये का सालना व्यापार होता है. सेब की खेती से सात लाख परिवारों की रोजी रोटी जुड़ी हुई है. भारत में उत्पादित सेब का 75 फीसद हिस्सा अकेले कश्मीर से आता है. साथ ही यहां पर ज्यादा से ज्यादा कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने से टर्नओवर बेहतर हो सकेगा.  

English Summary: The farmers will get the right price for Kashmiri apples, the government fixed the price

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News