Commodity News

STIHL के टिलर्स लाएगें कृषि क्षेत्र में बड़ा बदलाव

आज हमारे किसानों के सामने सबसे बड़ी समस्या श्रम की अनिश्चित उपलब्धता है. इससे किसानों को भारी शारीरिक और मानसिक तनाव होता है. जिससे  कृषि कार्यों को पूरा करने में देरी होती है. इसके परिणामस्वरूप उत्पादकता कम हो जाती है और  खेती में लाभ नहीं पाता. इस समस्या का एक मात्र हल भारतीय कृषि में मशीनीकरण के पहले स्तर की शुरुआत है. इस संकल्प में किसानों को हाथ से पकड़े जाने वाले उपकरणों के साथ सशक्त बनाना शामिल है. जो न सिर्फ सस्ते हैं बल्कि उपयोग करने के लिए सुविधाजनक भी है. साथ ही यह किसानों को भारी शारीरिक तनाव के बिना,  अपने कृषि कार्यों को समय पर पूरा करने में सक्षम बनाता है. वानिकी, कृषि उपकरणों और बागवानी में एक वैश्विक पहचान रखने वाली STIHL कंपनी, कृषि-उपकरणों की एक श्रृंखला शुरू कर रही है. जिसमें कृषि यंत्रीकरण को  छोटे और सीमांत किसानों की पहुंच में लाया गया है. इससे भारतीय कृषि में एक बड़ा परिवर्तन आया है.

पावर टिलर सेगमेंट में,  एक संगठित क्षेत्र से गुणवत्ता वाले उत्पाद की आवश्यकता थी. एसटीआईएचएल इंडिया ने अपने टिलर एमएच 610 और एमएच 710 की शुरुआत के साथ जुताई में एक नए युग की शुरुआत की है. मिट्टी की तैयारी में टिलर मशीन किसानों की मदद करती हैं. जोकि एक चुनौतीपूर्ण काम है, खासकर जब मिट्टी सख्त होती है. इन पावर पैक्ड मशीनों की सबसे महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक उनके विश्व प्रसिद्ध, उन्नत किस्म का एसटीआईएचएल यूरो-वी इंजन है. जो कम उत्सर्जन और बेहतर ईंधन दक्षता सुनिश्चित करता है.

इसकी अन्य महत्वपूर्ण विशेषता वेट एयर फिल्टर है जो कार्बोरेटर को ताजा, धूल रहित हवा की आपूर्ति करता है.  जो सभी प्रकार की परिचालन स्थितियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन को सुनिश्चित करता है. इसका अनोखा पावर टेक-ऑफ फंक्शन, पानी पंप करने और छिड़काव अनुप्रयोगों के लिए सबसे उपयुक्त है. इन मशीनों की लंबी-चौड़ी और अधिक गहराई में काम करने की क्षमता अंत: कृषि, मिट्टी को मोड़ना,  निराई करना, हवा लगाना और वृक्षारोपण के लिए पंक्तियाँ बनाने जैसे कार्यों में मदद करती है. इतना ही नहीं इसके फ्रंट लिफ्टिंग हैंडल, ट्रांसपोर्ट और रनिंग व्हील्स, साइडवे और वर्टिकल हैंडल-बार एडजस्टमेंट जैसे अतिरिक्त फीचर्स के परिणामस्वरूप इसे आसानी से संभाला और परिवर्तित किया जा सकता है.

एसटीआईएचएल टिलर्स की सिंपल थ्रोटल एक्टिवेशन, विश्वसनीय गियर शिफ्ट मैकेनिज्म और प्रोटेक्टिव हाउसिंग कवर के साथ रोबस्ट गियर बॉक्स जैसी सुविधाएँ टिलर के समग्र प्रदर्शन में सुधार लाती हैं. एसटीआईएचएल ने क्रमश:  6 होर्स पॉवर और 7 होर्स पॉवर वाले इंजन के साथ क्रमश टिलर्स  के अपने दो मॉडल एम.एच. 610 और एम.एच. 710 लॉन्च किए हैं. ये मॉडल सर्विसिंग और डीलरों के माध्यम से देशभर के कौन-कौने में उपलब्ध हैं. टिलर्स अपने प्रभावशाली ब्रशकटर्स, मिस्ट ब्लोअर, वीडर, वाटर पंप,  बरमा और स्प्रेयर युक्त उपकरणों से किसानों के बीच अपने दायरे को बढ़ाता है.

इन टिलर्स की लॉन्च को लेकर किसानों द्वारा दी गई प्रतिक्रिया  बहुत उत्साहजनक रही है. इस मौके पर STIHL ने एक ग्राहक प्रतियोगिता भी लॉन्च की जहाँ ग्राहक एक TVS STAR CITY मोटरसाइकिल और कई अन्य पुरस्कार जीते.

भारतीय बाजार में STIHL का निरंतर निवेश भारतीय बाजार के विकास के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखाता है. कंपनी ने पहले ही पुणे के पास चाकन में एक नई सुविधा पर काम करना शुरू कर दिया है, जिसकी अप्रैल 2020 तक तैयार होने की उम्मीद है.



Share your comments