सोया में उछाल, चना, गेंहू और चुनिंदा दालें सस्ती

महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। आज दिल्ली थोक जिंस बाजार में माँग आने और आयात महँगा होने से आज सोया रिफाइंड तेल के दाम दो हजार रुपये से ज्यादा बढ़ गये। चना, चुनिंदा दालें और गेहूं के दाम में गिरावट रही जबकि चीनी और गुड़ के भाव गत दिवस के स्तर पर पड़े रहे।

सरकार ने पिछले सप्ताह कच्चा और रिफाइंड पाम ऑयल तथा रिफाइंड सोया तेल पर आयात शुल्क बढ़ाया था। इस बीच ग्राहक आने से सोया रिफाइंड 2,050 रुपये प्रति कुन्तल चढ़ गया। कमजोर उठाव से सोया और पाम ऑयल में 600-600 रुपये प्रति कुन्तल की गिरावट रही। चावल छिलका तेल में 50 रुपये और तिल तेल में 200 रुपये प्रति कुन्तल की तेजी रही। बिनौला तेल, सरसों तेल और मूँगफली तेल की कीमतों में टिकाव रहा। अखाद्य तेलों की कीमतें भी कमोबेश स्थिर रहीं। 
कृषि मंत्रालय द्वारा जारी आँकड़ों के अनुसार, इस साल अब तक खरीफ मौसम में तिलहन का रकबा 157.36 लाख हेक्टेयर रहा है जो पिछले साल की समान अवधि की तुलना में घट गया है। पिछले साल इस समय तक इनका रकबा 175.10 लाख हेक्टेयर रहा था।

Comments