Weather

मौसम पूर्वानुमान : चक्रवात ‘वायु’ के कारण देश के इन इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना

मानसून ने देश के कई राज्यों में दस्तक दे दिया है. इसके वजह इन दिनों केरल में जमकर बारिश हो रही है. हालांकि देश के कई इलाकों में अभी भी गर्मी की कहर जारी है. वहीं अरब सागर में हवा के निम्नक दबाव की स्थिति गहराने की वजह से चक्रवात 'वायु' का खतरा बढ़ता जा रहा है. यह तेज रफ्तार से गुजरात की ओर बढ़ रहा है और यह 13 जून यानि गुरुवार दोपहर तक गुजरात राज्य के तट से टकराने की संभावना हैं, जिसके वजह से व्यापक रूप से तबाही होने की संभावना है. हालांकि जनधन की कोई हानि ने हो उसके मद्देनजर पहले ही पूरी तैयारी कर ली गई है और राज्य के तकरीबन 1.60 लाख लोगों को निचले इलाकों से निकालकर सुरक्षित उच्च  स्थानों पर पहुंचा दिया गया है. चक्रवात ‘वायु’ के वजह से उत्पन्न होने वाले किसी भी हालात से निपटने के लिए राज्य भर में एनडीआरएफ की 50 से अधिक टीम तैनात की गई है, जिनमें से हर टीम में तकरीबन 45 सदस्य हैं. ऐसे में आइए मौसम पर नजर रखने वाली निजी एजेंसी स्काइमेट के अनुसार देशभर में होने वाले मौसम की गतिविधियों के बारें में -

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

भीषण गंभीर चक्रवात पूर्व-मध्य में और पूर्वोत्तर अरब सागर में बना हुआ है. पश्चिमी विक्षोभ पूर्व दिशा की ओर बढ़ रहा है और उत्तरी-मध्य पाकिस्तान के ऊपर एक प्रेरित साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है. इस प्रणाली के वजह से एक ट्रफ रेखा पंजाब, हरियाणा और उत्तरी मध्य प्रदेश होते हुए बांग्लादेश तक फैला हुआ है.  एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र गंगीय पश्चिम बंगाल होते हुए बिहार और झारखंड के ऊपर बना हुआ है. एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम पर बना है.

बीते 24 घंटों की मौसमी गतिविधियां

पिछले 24 घंटों के दौरान, जम्मू-कश्मीर में भारी से अति भारी बारिश दर्ज हुई.जबकि, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की गयी. राजस्थान और मध्य प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर गरज और बारिश के साथ एक दो जगहों पर धूल भरी आंधी देखी गई. जबकि पश्चिम बंगाल और नागालैंड में एक-दो जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई. असम के पश्चिमी भागों के कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश देखी गई. अंडमान व निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप समूह में भारी से अति भारी बारिश दर्ज हुई. केरल, तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश के साथ अधिकांश जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश देखी गई. दक्षिणी गुजरात में एक दो जगहों पर बारिश के साथ मध्य महाराष्ट्र में भी अलग-अलग स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश देखी गई. राजस्थान और मध्य प्रदेश के कई स्थानों पर और हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, और ओडिशा में एक-दो स्थानों पर लू की स्थिति बनी रही.

अगले 24 घंटों की मौसमी गतिविधियां

अगले 24 घंटों के दौरान, गंभीर चक्रवात वायु के कारण, गुजरात के तटीय इलाकों में बहुत भारी बारिश होने की उम्मीद है. गुजरात और महाराष्ट्र तट पर समुद्र की स्थिति बहुत ही उबड़-खाबड़ जबकि कर्नाटक तट पर भी समुद्र की स्थिति सामान्य से ख़राब रहेगी. जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप के कई स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है. केरल और कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. एक दो स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं. कोंकण और गोवा, छत्तीसगढ़, विदर्भ, तेलंगाना सहित मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है. राजस्थान, बिहार, तटीय आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में अधिकांश स्थानों में हवाएं और हल्की बारिश के साथ एक-दो जगहों पर मध्यम बारिश के आसार हैं. दिल्ली, एनसीआर, राजस्थान के कुछ हिस्से तथा मध्य प्रदेश के हिस्सों से गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद है.



Share your comments