सम्पूर्ण भारत का 28 सितम्बर 2018 का मॉनसून पूर्वानुमान

मौसम अब कोई पहेली नहीं रहा. बरतिए मौसम विभाग भी अब कोई चुटकला बन कर नहीं रह गया है. निजी मौसम की जानकारी देनेवाले संस्थान की भविष्यवाणी सही निकलने लगी है. ऐसी ही एक स्काइमेट के मौसम की जानकारी को क्या किसान और आम जनता अब सही मानने लगे हैं. चलिए देखते हैं की आज 28 सितम्बर को बारिश कहाँ और कैसी होगी.

ज्यादातर मौसम शुष्क रहेगा और कहीं कहीं छूट-पुट बारिश होगी. इस बार बारिश की अधिकता की वजह से सर्दी भी जल्दी आ जाएगी. दिवाली के आसपास रजाई तो निकल ही आएगी.

एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र तमिलनाडु तट से सटे बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिमी भागों पर बना हुआ है।

एक एंटी-साइक्लोन गुजरात और उसके आसपास के इलाकों पर बना हुआ है।

एक ट्रफ रेखा अरब सागर से केरल और तमिलनाडु होते हुए बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिमी भागों तक बनी हुई है।

पूर्वी बिहार से बंगाल की खाड़ी के उत्तरी भागों तक भी एक ट्रफ रेखा दिखाई दे रही है।

इसके अलावा एक अन्य ट्रफ रेखा तेलंगाना से दक्षिणी तमिलनाडु तक बनी हुई है।

बीते 24 घंटों के दौरान मॉनसून का प्रदर्शन

पिछले 24 घंटों के दौरान दक्षिणी गोवा सहित दक्षिणी महाराष्ट्र, सिक्किम, तमिलनाडु और लक्ष्यदीप के कुछ भागों पर मॉनसून सक्रिय रहा। इन भागों में हल्की से माध्यम बारिश के बीच कुछ स्थानों पर भारी वर्षा रिकॉर्ड की गई।

कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में भी मॉनसून का सामान्य प्रदर्शन जारी रहा और कुछ स्थानों पर बारिश देखने को मिली।

विदर्भ, दक्षिणी तेलंगाना, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय और उत्तराखंड में कहीं-कहीं मॉनसून सक्रिय रहा और कुछ स्थानों पर हल्की तो कहीं मध्यम बारिश रिकॉर्ड की गई।

पिछले 24 घंटों के दौरान सिक्किम के मंगन में सबसे अधिक 81 मिमी वर्षा हुई। इसके अलावा, मिनीकॉय में 73 और इरोड में 62 मिमी बारिश दर्ज की गई।

अगले 24 घंटों में मॉनसून का संभावित प्रदर्शन

नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, दक्षिणी छत्तीसगढ़, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, दक्षिणी कोंकण व गोवा, दक्षिणी मध्य महाराष्ट्र और तमिलनाडु के आंतरिक हिस्सों में सामान्य मॉनसून जारी रहने की उम्मीद है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित देश के बाकी सभी भागों में मॉनसून कमजोर रहेगा और मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहेगा।

साभार: skymetweather.com

 

Comments