1. विविध

30 हजार रूपये किलो बिकती है ये सब्जी, बेचने वाला हो जाता है धन्ना सेठ

martula esculenta and money

Gucci Mushroom

बढ़ते हुए फल-सब्जियों के दाम को लेकर चारों तरफ मानों हाहाकार मचा हुआ है. आम आदमी आसमान छुती इन सब्जियों के दाम को लेकर इतना विवश है कि उसने सलाद में कटौती करना शुरू कर दिया है. लेकिन अगर हम कहें कि भारत में एक सब्जी 50, 70 या 150 रूपये प्रति किलो नहीं बल्कि 30 हजार रूपये प्रति किलो बिक रही है तो क्या आप मानेंगें? जी हां, भले आपको ये जानकर थोड़ी हैरानी हुई हो, लेकिन भारत में पाई जाने वाली गुच्छी मशरूम 25 से 30 हजार रूपये प्रति किलो में बिक रही है.

वैसे अगर आप ये सोच रहे हैं कि इतनी ऊंची किमत की वजह महंगाई है तो बता दें ऐसा नहीं है. आम दिनों में भी ये सब्जी हजारों की किमत में ही बिकती है. दरअसल गुच्छी अत्यधिक दुर्लभ सब्जी है, जो छतरी, टटमोर आदि नाम से भी भारत में प्रसिध्द है. खास औषधिय गुणों से भरपूर होने के कारण इसकी जबरदस्त मांग है.

दिल की बीमारियां करती है दूर (Heart diseases do away)

ये सब्जी औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण हमारे स्वास्थ के लिए संजीवनी जैसी है. इसका सेवन आपकी स्किन के लिए फायदेमंद है. वहीं ये आपके दिल की बिमारियों को दूर करने में सक्षम है.

यहां होती है गुच्छी (It takes place here gucchi)

ये सब्जी शिमला के जंगलों में पाई जाती है. आमतौर पर इसकी खेती नहीं होती बल्कि ये एक जंगली पौधा होता है. इसे खोजने के लिए ग्रामीण लोग जगलों में जाते हैं। किसी सोने-चांदी की लालसा के समान ही इसे पाने की प्रतिस्पर्धा अपने आप में कड़ी होती है.

एक ही दिन में बना देती है धन्ना सेठ

इस सब्जी के मिलने का मतलब साक्षात कुबेर का खजाना मिलने के समान है. कुछ ही किलो सब्जी एक दिन में लाखों का मुनाफा करा देती है. स्थानिय लोगों के अनुसार ये एक अति दुर्लभ सब्जी है 

जिसकी पांच सितारा होटल्स में ताबड़तोड़ मांग है. ये सब्जी पहाड़ों पर बिजली की गड़गड़ाहट व चमक से विकसित होती है.

English Summary: 30 thousand per kg vegetable moral in india guchhi martula esculenta is the costliest vegetables in india

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News