News

7,500 किसानों को कर्जमाफ़ी का प्रमाणपत्र देगी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों से किए कर्ज माफ़ी के वादे को गुरुवार से अमलीजामा पहनाने के लिए शुरुआत करने जा रही है. लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व गृहमंत्री राजनाथ सिंह किसानों को प्रमाण पत्र देकर फसल ऋण मोचन योजना को आरंभ करेंगे. यह जानकारी सूबे के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने दी.  

शाही ने कहा, "गुरुवार को मुख्यमंत्री व गृहमंत्री करीब 7,500 किसानों को कर्ज माफी का ऋणमोचन प्रमाण पत्र देंगे. योगी सरकार ने कैबिनेट की पहली बैठक में ही किसानों के फसली कर्ज माफ करने का फैसला किया था. ये सुविधा सिर्फ उन लघु और सीमांत किसानों को ही मिलेगी, जिनके पास पांच एकड़ खेती वाली जमीन है और जिन्होंने एक लाख रुपये तक का कर्ज ले रखा है." 

उन्होंने कहा, "लखनऊ के स्मृति उपवन में होने वाले कार्यक्रम में करीब 7,500 किसानों को कर्ज माफी के प्रमाण पत्र दिए जाएंगे. प्रथम चरण में उन 27.5 लाख किसानों के कर्ज माफ होंगे, जिनके खाते आधार से लिंक हो गए हैं. उप्र में ऐसे करीब 86 लाख किसान हैं, जिनके कर्ज की माफी के लिए सरकार ने बजट में 36 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की है." 

शाही ने कहा, "योजना की शुरुआत के बाद जिलों में मंत्री पांच सितंबर को कर्ज माफी के प्रमाण पत्र वितरित करेंगे. लखनऊ में किसानों को खुद योगी प्रमाण पत्र देंगे. वहीं बाकी 74 जिलों में वहां के प्रभारी मंत्री यही काम करेंगे." उन्होंने कहा कि करीब 27.5 लाख किसानों का आधार कार्ड खाते से लिंक कर दिया गया है. इसके साथ ही वेरीफिकेशन की कार्रवाई भी की जा रही है. यह कर्ज की माफी केवल फसली ऋण पर ही की जाएगी."

उन्होंने बताया, "प्रदेश के 43 जिलों में एसएस मशीन लगाई गई है, जिसके बाद मृदा परीक्षण के काम में तेजी आई है. पिछली सरकार के कार्यकाल में करीब 47,70,399 मृदा सैंपल में से केवल 23,93,954 सैंपल ही जांचे गए थे. इस सरकार के मात्र चार माह के कार्यकाल में यह आंकड़ा 31,20,479 तक पहुंच गया है. इसके साथ ही सरकार ने 31 अक्टूबर तक पहली चक्र के कार्डो को वितरित करने का भी लक्ष्य रखा है."



Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in