उत्तर प्रदेश को मिलेगी बेहतर इंटरनेट सेवा

 

इलेक्ट्रॉनिक राष्ट्रीय कृषि बाजार  में व्यापार  कर रहे उत्तर प्रदेश के किसानों को जल्दी ही तेज इंटरनेट की सुविधा मिल सकती है । राज्य सरकार ने इन मंडियों में लीज इंटरनेट लाइन लगाने का काम शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश ने अब तक 100 ई-नाम मंडियां स्थापित की हैं, जिनमें कुल 27.31 लाख किसान रेजिस्टर्ड हैं।

अभी किसान एक मंडी के अंदर ऑनलाइन व्यापार कर रहे हैं। चुनी हुई मंडियों में एक्सपेरिमेंट के तौर पर एक से दूसरे मंडी के बीच व्यापार की फैसिलिटी भी दी गई है। लखनऊ में कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “खराब और धीमा इंटरनेट मुख्य समस्या है। ई-नाम ऐप को मोबाइल में या डेस्कटॉप के जरिये इसकी वेबसाइट के परिचालन के लिए इंटरनेट का तेज होना जरूरी है। हमने लीज इंटरनेट लाइन लगाने के लिए भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) को ठेका दिया है।

इस पर काम शुरू हो चुका है। साथ ही उन्होंने कहा, सभी 100 मंडियों में यह काम अगले 2-3 महीने में पूरा हो जाएगा। 100 मंडियों में से लखीमपुर और सहारनपुर मंडियों समेत करीब 20 मंडियां सक्रिय हैं और बाकियों में भी व्यापार  के स्पीड पकड़ने का अंदेशा है।

Comments