1. ख़बरें

बंगाल में 17 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में फसलों को नुकसान

अनवर हुसैन
अनवर हुसैन

पिछले माह (20 मई) को राज्य में आए चक्रवाती तूफान ‘अंफान’ से पश्चिम बंगाल में 17 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में फसलों का नुकसान हुआ है। बागवानी, मत्स्य पालन आदि क्षेत्रों में लगभग 12442 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इसमें सिर्फ फसलों का नुकसान 15 हजार 860 करोड़ रुपए का हुआ है। ममता बनर्जी की सरकार ने राज्य के दौरे पर आई केंद्रीय टीम को ‘अंफान’ से हुए कुल नुकसान पर 12442 करोड़ रुपए की क्षति पर अपनी रिपोर्ट सौंपी है.तूफान से हुई क्षति पर राज्य सरकार की ओर से केंद्रीय टीम को सौंपी रिपोर्ट के मुताबिक 250556.17 हेक्टेयर क्षेत्र में बागवानी का नुकसान हुआ है जो 6581 करोड़ रुपए मूल्य का है। 2000 करोड़ रुपए मूल्य के मत्स्य पालन केंद्र की क्षति हुई है। 1.58 लाख हेक्टेयर में वन की क्षति हुई है जो 1033 करोड़ रुपए मूल्य का है। राज्य में अंफान से जो 1 करोड़ 2 हजार 442 रुपए की क्षति हुई है.उल्लेखनीय है कि 20 मई को राज्य में 150-190 किलो मीटर प्रति घंटे के वेग से आए अंफान ने राज्य में भारी तबाही मचाई थी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अनुरोध पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य में तूफानग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया और उसके बाद उन्होंने तत्काल राज्य को 1000 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद दी। प्रधानमंत्री ने कहा था कि राज्य में तूफान से हुई क्षति का जायजा लेने के लिए केंद्रीय टीम आएगी। केंद्रीय टीम के रिपोर्ट देने पर जरूरत के मुताबिक पश्चिम बंगाल को क्षति की भरपाई के लिए और आर्थिक मदद दी जाएगी।

प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुसार केंद्रीय टीम 5 जून को राज्य के दौरे पर आई। केंद्रीय टीम के सदस्यों ने दो दिनों तक तटवर्ती जिला दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना के विभिन्न तूफान ग्रस्त क्षेत्रों में घुमकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने अन्य तूफान ग्रस्त क्षेत्रों के जिलाधिकारियों से भी बातचीत की। उसके बाद केंद्रीय टीम ने शनिवार को राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा के साथ बैठक की। सिन्हा ने केंद्रीय टीम को राज्य में ‘अंफान’ से 12442 करोड़ रुपए की क्षति होने पर रिपोर्ट सौंपी। राज्य सचिवालय नवान्न सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार की रिपोर्ट को ध्यान में रखकर केंद्रीय टीम रिपोर्ट तैयार करेगी। हालांकि केंद्रीय टीम ने राज्य में ‘अंफान’ से भारी क्षति होने पर सहमति जताई है। उम्मीद है कि केंद्रीय टीम की रिपोर्ट सौंपने पर राज्य को केंद्र से और आर्थिक मदद मिलेगी।

पिछले साल बुलबुलसे राज्य में 23 हजार करोड़ रुपए की क्षति

पिछले साल चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ से राज्य में 23 हजार करोड़ रुपए की क्षति हुई थी। उस समय भी केंद्रीय टीम राज्य के दौरे पर आई थी। राज्य ने केंद्रीय टीम को बुलबुल से 23 हजार करोड़ रुपए की क्षति पर रिपोर्ट सौंपी थी। लेकिन उसके बाद राज्य को 1000 करोड़ रुपए की ही मदद मिली। राज्य सरकार ने तूफानग्रस्त क्षेत्रों में पुनर्गठन और पुनर्वास योजना के लिए 6300 करोड़ रुपए आवंटित किए है। तटवर्ती जिलों, दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और पूर्व मेदिनीपुर के तूफानग्रस्त क्षेत्रों में पुनर्गठन कार्य चल रहा है।

ये खबर भी पढ़े: हीरो कंपनी ने जारी की मोटरसाइकिल और स्कूटर की नई प्राइस लिस्ट, जल्द होंगे ये नए मॉडल्स भी लांच

English Summary: report on agriculture loss

Like this article?

Hey! I am अनवर हुसैन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News