MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

18 दिसंबर को आयोजित होने जा रहा है प्रोग्रेसिव एग्री लीडरशिप समिट 2021, जानिए क्या है इसकी कहानी

बात अगर मीडिया संस्थान और उसके कर्तव्यों की करें तो पूरे समाज को देश दुनिया के खबरों से अवगत करवाना है. और उन्हें अपने जिम्मेदारियों से रूबरू करवाना है. लेकिन वही आज के मीडिया संस्थान की बात करें तो समय के हिसाब से इसमें कई प्रकार के बदलाव देखे गए हैं. ऐसा माना जाता है की मीडिया को हर क्षेत्र में निष्पक्ष हो कर काम करना चाहिए लेकिन हमारे समाज में कई ऐसे संस्थान आज भी है जो समय के अनुसार खुद को बदलते रहते हैं. वही कुछ मीडिया संस्थान अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए आज भी समाज को सही राह और दुनिया में चल रहीं चीजों से अवगत करवाती रहती हैं. दरअसल मीडिया का काम होता है खबरों का संचालन करना. एक जगह से दूसरे जगह तक उसे पहुंचना और लोगों को समय समय पर अपडेट करना. वही बात अगर डिजिटल मीडिया की करें तो यह हमारे बदलते समाज के लिए वरदान है. वहीं कुछ लोग इसका गलत इस्तेमाल कर इसको बदनाम करने की कोशिश करने में लगे हैं.

प्राची वत्स
J.P University
J.P University

बात अगर मीडिया संस्थान और उसके कर्तव्यों की करें तो पूरे समाज को देश दुनिया के खबरों से अवगत करवाना है. और उन्हें अपने जिम्मेदारियों से रूबरू करवाना है. लेकिन वही आज के मीडिया संस्थान की बात करें तो समय के हिसाब से इसमें कई प्रकार के बदलाव देखे गए हैं. ऐसा माना जाता है की मीडिया को हर क्षेत्र में निष्पक्ष हो कर काम करना चाहिए लेकिन हमारे समाज में कई ऐसे संस्थान आज भी है जो समय के अनुसार खुद को बदलते रहते हैं. 

वही कुछ मीडिया संस्थान अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए आज भी समाज को सही राह और दुनिया में चल रहीं चीजों  से अवगत करवाती रहती हैं. दरअसल मीडिया का काम होता है खबरों का संचालन करना. एक जगह से दूसरे जगह तक उसे पहुंचना और लोगों को समय समय पर अपडेट करना. वही बात अगर डिजिटल मीडिया की करें तो यह हमारे बदलते समाज के लिए वरदान है. वहीं कुछ लोग इसका गलत इस्तेमाल कर इसको बदनाम करने की कोशिश करने में लगे हैं.

क्या है डिजिटल मीडिया और इसका काम ?

मीडिया द्वारा समाज को संपूर्ण विश्व में होने वाली घटनाओं की जानकारी आम जनता को दी जाती है. इसलिये मीडिया का यह प्रयास रहता है की जानकारियाँ यथार्थपरक हो. सूचनाओं को तोड़-मरोड़कर या दूषित कर प्रस्तुत करने का प्रयास अधिकतर मीडिया संस्थान नहीं करना चाहता लेकिन ये भी सच है की इस समाज में ऐसे घटनाएं मीडिया द्वारा खुले आम किया जा रहा है. समाज के हित एवं जानकारी के लिये सूचनाओं को यथावत एवं सही रूप में जनता के समक्ष पेश करना चाहिये. मीडिया का प्रस्तुतीकरण ऐसा होना चाहिये जो समाज का मार्गदर्शन कर सके. खबरों और घटनाओं का प्रस्तुतीकरण इस प्रकार हो जिससे जनता का मागदर्शन हो सके. उत्तम लेख, संपादकीय, ज्ञानवर्द्घक सूचनाएँ, श्रेष्ठ मनोरंजन आदि सामग्रियों का खबरों में समावेशन होना चाहिये तभी समाज को सही दिशा प्रदान की जा सकेगी.   

डिजिटल मीडिया समाज को अनेक प्रकार से नेतृत्व प्रदान करता है. इससे समाज की विचारधारा काफी हद तक सकारात्मक और नकारतमय तरीकों से प्रभावित होती है. मीडिया को प्रेरक की भूमिका में भी उपस्थित होना चाहिये जिससे समाज एवं सरकारों को प्रेरणा व मार्गदर्शन प्राप्त हो. मीडिया समाज के विभिन्न वर्गों के हितों का रक्षक भी होता है. वह समाज की नीति, परंपराओं, मान्यताओं तथा सभ्यता एवं संस्कृति के प्रहरी के रूप में भी भूमिका निभाता है. पूरे विश्व में घटित विभिन्न घटनाओं की जानकारी समाज के विभिन्न वर्गों को मीडिया के माध्यम से ही मिलती है. अत: उसे सूचनाएँ निष्पक्ष रूप से सही परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत करनी चाहिये.

इस खबर को भी पढ़ें - हॉर्टिकल्चर और फॉरेस्ट्री यूनिवर्सिटी के पहले कुलपति बने डा. राम शंकर कुरील कहा बढ़ेगा रोजगार का मौका

मीडिया अपनी खबरों द्वारा समाज के असंतुलन एवं संतुलन में भी बड़ी भूमिका निभाता है. मीडिया अपनी भूमिका द्वारा समाज में शांति, सौहार्द, समरसता और सौजन्य की भावना विकसित कर सकता है. सामाजिक तनाव, संघर्ष, मतभेद, युद्ध एवं दंगों के समय मीडिया को बहुत ही संयमित तरीके से कार्य करना चाहिये. राष्ट्र के प्रति भक्ति एवं एकता की भावना को उभरने में भी मीडिया की अहम भूमिका होती है. शहीदों के सम्मान में प्रेरक उत्साहवर्द्धक खबरों के प्रसारण में मीडिया को बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिये. मीडिया विभिन्न सामाजिक कार्यों द्वारा समाज सेवक की भूमिका भी निभा सकता है. भूकंप, बाढ़ या अन्य प्राकृतिक या मानवकृत आपदाओं के समय जनसहयोग उपलब्ध कराकर मानवता की बहुत बड़ी सेवा कर सकता है. मीडिया को सद्प्रवृत्तियों के अभिवर्द्धन हेतु भी आगे आना चाहिये.

इसी विचारधारा को आगे ले जाने के लिए और अन्य मीडिया संस्थान को प्रेरित करने के साथ-साथ उनको बढ़ावा देने के लिए प्रोग्रेसिव एग्री लीडरशिप सबमिट 2021 जे परमर यूनिवर्सिटी ऑफ हॉर्टिकल्चर एंड फॉरेस्ट्री में 18 दिसंबर को आयोजित होने जा रहा है. यहां डिजिटल मीडिया एक्सीलेंस का अवार्ड मीडिया संस्थान को दिया जाएगा जो इसके असली हकदार हैं. आपको बता दें ये आयोजन सभी मीडिया संस्थान के लिए बेहद जरूरी है. अब देखना ये है की इस अवार्ड को कौन लेकर जाता है और किसको मिलता है.

English Summary: Progressive Agri Leadership Submit 2021 is going to be held on December 18, know what is its story Published on: 16 December 2021, 05:00 PM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News