1. ख़बरें

PM-Kisan Yojana : 3.34 अरब रुपए से भेजी गई चौथी किस्त, पांचवीं भेजने की है तैयारी

कोरोना को हारने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है. इस जंग में कोई भी मोर्चा कमजोर न हो, इसकी सरकार ने पूरी तैयारी की है. इसी कड़ी में कल गोरखपुर मंडल में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना के  16.72 लाख लाभार्थियों के खातों में 3.34 अरब रुपए की सम्मान राशि भेजी जा चुकी है. बता दें, यह पीएम सम्मान निधि की चौथी किस्त है. इस लॉकडाउन में किसान इन पैसों से अपनी छोटी-मोटी जरूरत को पूरा कर सकता है.

बता दें, गोरखपुर मंडल में पीएम  सम्मान निधि के लाभार्थियों के लगभग 3 लाख डेटा में कुछ गड़बड़ी थी जिसके चलते यह सम्मान राशि किसानों के खातों में नहीं जा पा रही थी, अब इनमें से अधिकतर खातों की गलतियों को दूर कर दिया गया है. ऐसे भी खाते थे जिनमें लाभार्थियों की मृत्यु हो चुकी थी, इसके बाद भी राशि जा रही थी. अब इन गलतियों को भी दूर कर दिया गया है.

लॉकडाउन में बड़ी मदद

कृषि विभाग का मानना है कि लॉकडाउन की इस अवधि में किसानों के लिए यह मददगार साबित होगी. यह ऐसा समय है, जब किसान अपनी उपज को खेत से खलिहान तक पहुंचाने में व्यस्त होते हैं. इसी समय किसानों को पैसों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. कृषि विभाग की तरफ से यह भी जानकारी दी गई कि जल्द ही किसानों के खातों में पांचवीं किस्त भेज दी जाएगी.

कहां कितनों को मिली किस्त ?

बता दें, गोरखपुर मंडल के अंतर्गत चार जिले आते हैं जो गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज हैं. इन जिलों में कुल पीएम किसान के लाभार्थियों की संख्या क्रमशः   428605, 387707, 512955 , 419322 है. उपरोक्त जिले के कुल लाभार्थियों को क्रमशः  405577,  377406,   486482, 402825 एक किस्त , 364853, 349387, 428990, 356144 को दो किस्त, 319517, 324964, 370642, 309917 तीसरी किस्त और 166830, 227739, 251430, 199757 को चौथी किस्त मिली है.

नोट- ये सभी आंकड़े पीएम किसान की वेब साइट से लिए गए हैं.

English Summary: PM-Kisan Yojana: Preparation to send fourth installment, fifth sent from Rs 3.34 billion

Like this article?

Hey! I am प्रभाकर मिश्र. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News