पन्तनगर कृषि मेलें की हुई शुरुआत किसानों को मिल रही कृषि की पूरी जानकारी

पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय में चल रहे प्रसिद्ध किसान मेले का उद्घाटन उप कुलपति राजीव रौतेला द्वारा किया गया। गांधी मैदान में फीता काट कर राजीव रौतेला ने मेले का शुभारम्भ किया, तत्पश्चात मेले में लगी उद्यान प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया। इसके बाद कुलपति, राजीव रौतेला आईएएस, एवं निदेशक प्रसार शिक्षा, डा. वाई.पी.एस. डबास, मेले में लगाए गए विभिन्न महाविद्यालयों एवं अन्य संस्थाओं के स्टालों का मुख्य अतिथि को भ्रमण कराया। मेले का उद्घाटन समारोह गांधी हाल में आयोजित किया गया, जिसमें मेला प्रांगण का भ्रमण करने के बाद न्यायमूर्ति राजीव रौतेला  मुख्य अतिथि के रूप में किसानों एवं अन्य उपस्थित जनों को सम्बोधित किया।

निदेशक प्रसार शिक्षा, डा. वाई.पी.एस. डबास, ने कल मेला प्रांगण का भ्रमण कर मेले की तैयारी का अवलोकन किया। मेले में आने वाली फर्मों के स्टालों का लगाया जा चुका है। मेले में विश्वविद्यालय के विभिन्न महाविद्यालयों, विश्वविद्यालय के वाह्य शोध केन्द्रों एवं कृषि विज्ञान केन्द्रों तथा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त विभिन्न फर्मों द्वारा अपने-अपने उत्पादों एवं तकनीकों का प्रदर्शन किया । मेले में बड़ी संख्या में आयी विभिन्न फर्मों द्वारा ट्रैक्टर, कम्बाइन हार्वेस्टर, पावर ट्रिलर, पावर वीडर, प्लान्टर मशीन, सब-स्वायलर, सिंचाई यंत्रों एवं अन्य आधुनिक कृषि यंत्रों का प्रदर्शन कर उनके बारे में जानकारी दी जायेगी। मेले में विश्वविद्यालय  एवं विभिन्न फर्मों द्वारा पर्वतीय क्षेत्रों हेतु छोटी मशीनों व कृषि उपकरणों का प्रदर्शन भी किया जायेगा।

 इस मेले में विश्वविद्यालय द्वारा उत्पादित रबी की विभिन्न फसलों यथा गेहूं, सरसों, चना, मटर, मसूर आदि के बीजों की बिक्री की जाएगी। साथ ही विभिन्न शोध केन्द्रों द्वारा उत्पादित सब्जियों, फूलों, औषधीय व संगध पौधों, फलों इत्यादि के पौधों व बीजों की बिक्री भी की जाएगी। विभिन्न कृषि निवेश जैसे-खाद, उर्वरक, बीज, पशु आहार, पशुचिकित्सा, कीट एवं रोग के नियंत्रण हेतु रासायनिक एवं जैविक उत्पाद, नर्सरी उत्पाद इत्यादि से सम्बन्धित फर्मों द्वारा भी अपने उत्पादों का प्रदर्शन एवं बिक्री की जायेगी। इस मेले के दो-दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत किसानों को विश्वविद्यालय के विभिन्न शोध केन्द्रों का भ्रमण भी कराया जायेगा।

किसान मेले में विभिन्न कार्यक्रम व प्रतियोगिताएं होंगी। पुराने स्थल, गांधी पार्क, में लगाये जाने वाले इस चार-दिवसीय मेले में चारों दिन विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। निदेशक प्रसार शिक्षा, डा.वाई.पी.एस. डबास, ने बताया कि मेले के प्रमुख आकर्षणों में 5-8 अक्टूबर 2018 को फल-फूल, शाक-भाजी एवं परिरक्षित पदार्थो की प्रदर्शनी व प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी। 6 अक्टूबर को ही अपरान्ह् 2:00 बजे शैक्षणिक डेयरी फार्म, नगला, पर संकर बछियों की नीलामी तथा 7 अक्टूबर 2018 को पूर्वान्ह् 10ः00 बजे से पशुचिकित्सा एवं पशुपालन विज्ञान महाविद्यालय के पशु उत्पाद एवं प्रबंधन विभाग के परिसर में पशु प्रदर्शनी  एवं प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी।

कृषकों हेतु मेले के प्रथम तीन दिन अपरान्ह् 2ः30 से 3ः30 बजे तक विशेष व्याख्यान माला का गांधी हाल में आयोजन किया जायेगा, जिसमें वैज्ञानिकों द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान दिया जायेगा। तीनों दिन अपरान्ह् 3ः30 से 6ः30 बजे तक गांधी हाल में ही किसान गोष्ठी का आयोजन किया जायेगा, जिसमें किसान अपनी समस्याओं से सम्बन्धित प्रश्नों का त्वरित समाधान सीधे वैज्ञानिकों से पा सकेंगे। कृषकों के मनोरंजन हेतु प्रथम तीन दिन गाँधी हाल में सायं 7ः00 से 8ः30 बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।

मेले के अंतिम दिन, यानि 8 अक्टूबर 2018 को, समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का गांधी हाल में अपराह्न 3ः00 बजे से आयोजन किया जायेगा, जिसमें मेले में हुई विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजित प्रतिभागियों एवं मेले में लगे स्टालों को अपने प्रदर्शन हेतु मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा। कृषि जागरण इस कृषि मेलें में बतौर मुख्य अथिति प्रतिभागिता कर रहा है .

 

चंद्र मोहन, कृषि जागरण

Comments