News

नई दिल्ली में जेदयू ने चलाया शराबबंदी अभियान, हज़ारों की संख्या में लोगों ने लिया भाग

Nasha

महात्मा गांधी के 150 वें जन्मदिन वर्ष पर युवा जेदयू ने बिहार की तरह पूरे राष्ट्र में शराब बंदी का अनुग्रह किया. इस मौके पर जेदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार के नेतृत्व में शराब एवं उसके दुषप्रभावों के खिलाफ जंतरमंतर पर एक कार्यक्रम का आयोजन भी हुआ, जहां हज़ारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया. कार्यक्रम में छात्रों, महिलाओं एवं युवाओं के साथ-साथ समाज़ के हर वर्ग से आग्रह करते हुए संजय कुमार ने कहा कि शराब हमारे देश को खोखला करती जा रही है और इसके खिलाफ संगठित होकर लड़ने की जरूरत है.

वहीं लोगों को संबोधित करते हुए जदयू के प्रधान महासचीव के.सी त्यागी ने कहा कि शराब के कारण ही देश में लूट-पाट जैसी घटनाएं बढ़ रही है, इसलिए हम इस तरह के कार्यक्रम राष्ट्र स्तर पर करेंगें. उन्होंने कहा कि शराब के खिलाफ सभी को साथ मिलकर लड़ना चाहिए, लेकिन एक मात्र जेदयू पार्टी ही यह काम कर रही है.

कार्यक्रम में महिलाओं की बात करते हुए सासंद रामनाथ ठाकुर ने बताया कि जब कोई इंसान नशा करता है, तो वह ना सिर्फ अपना नुकसान करता है बल्कि अपने साथ-साथ अपने परिवार के लिए भी मुश्किलें खड़ी करता है. उन्होंने बताया कि शराब बंदी के बाद महिलाओं के खिलाफ घरेलु हिंसा में कमी आई है और लोग अपनी आमदनी का सेवन मुख्य जरुरतों पर खर्च करने लगें हैं.

nasha

इस मौके पर हमारी खास बातचीत जदयू दिल्ली सचिव (यु.) शिवांश धर  से जब हुई, तो उन्होंने कहा कि युवाओं को अगर आगे बढ़ना है तो सबसे पहले शराब से दूर रहना होगा. लोग सोचते हैं कि शराब बंदी से देश को नुकसान होगा. लेकिन हम बताना चाहते हैं कि बिहार में शराब बंदी के बाद किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है. आज़ वहां भ्रमण उद्योग 9 प्रतिशत से बढ़ रहा है, बच्चों की पढ़ाई एवं भरण पोषण की दर बढ़ी है और प्रदेश में शांति एवं कानून व्यवस्था बनी हुई है.

वहीं जदेयू की सक्रीय युवा सदस्य ने शराब के खिलाफ पार्टी की रणनीति के बारे में बताते हुए कहा कि हमारा मकसद समाज़ में बदलाव लाने का है और इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आगे भी बड़े स्तर पर नशे के खिलाफ लोगों को जागरूक करते रहेंगें.



Share your comments