1. ख़बरें

आईएआरआई पूसा के 56 वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए महामहिम

हरित क्रांति की जन्मस्थली पूसा संस्थान ने अपना 56 व दीक्षांत समारोह मनाया. यह समारोह पूरा सप्ताह चला. ज्ञात रहे भारतीय कृषि अनुसन्धान संस्थान को मानद विश्वविद्यालय  का दर्जा प्राप्त है. है संस्थान हर साल विद्यार्थियों को स्नातकोत्तर और मानद शिक्षा प्रदान करता है. साल 2017 तक इस विश्वविद्यालय ने 8626 विद्यार्थियों को शिक्षित किया है. इस दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अथिति राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शामिल हुए इस दौरान महामहिम ने संस्थान की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला और 250 छात्रों को उपाधि प्रदान की. और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. इन विद्यार्थियों में पीएचडी, एमटेक और एमएससी के छात्र शामिल है. इनमें विदेशी छात्र भी शामिल है. इस भारतीय संस्थान ने अन्तराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति हासिल की है. इस दौरान केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह, आईसीएआर के डायरेक्टर जनरल डॉ.त्रिलोचन महापात्रा, डायरेक्टर एक्सटेंशन, डॉ. ए .के. सिंह उपस्थित रहे.

 इस दीक्षांत समारोह के दौरान कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने विद्यार्थियों एवं वैज्ञानिको को संबोधित किया. उनको उज्जवल भविष्य के लिए बधाई दी.समारोह के दौरान कई हस्तियों को प्रतिष्ठित पुरुस्कारों से सम्मानित किया गया. इन पुरुस्कारों में श्री हरी कृष्ण शास्त्री स्मृति पुरुस्कार, राव बहादुर डॉ.बी. विश्वनाथ स्मृति पुरुस्कार, डॉ.बी.पी. पाल स्मृति पुरुस्कार, हुकर पुरुस्कार और सर्वश्रेष्ठ छात्र एवं शिक्षक पुरुस्कार भी शामिल है. इसी दौरान फसल, सब्जियों, फलो और फूलों की 13 नयी प्रजातियों विमोचित किया गया. इन नयी प्रजातियों में गेहूं की प्रजातियों(एच.डब्ल्यू.-5207, एच.आई.-1612, एच.आई.-8777), धान की एक प्रजाति पूसा बासमती-1718, मक्का की चार प्रजातियाँ (पूसा विवेक क्यूपीएम-9, पूसा एचएम-4 इम्प्रूव्ड, पूसा एचएम-8, पूसा एचएम-9 इम्प्रूवड) एक एक प्रजातियाँ बाजरा (पूसा हाइब्रिड-1201) और चना (बीजीडी 111-1) अरहर (पूसा अरहर 16), मूंग (पूसा 1431) और मसूर (एल-4727) को विमोचित किया .

 सब्जियों में (पप्याज-पूसा श्रिद्धि, बंचिंग प्याज –पूसा सौम्या, सेम –पूसा कार्तिकी, गाजर-पूसा बरखा, धारीदार तुर- पूसा नूतन, फूलगोभी-पूसा स्नोबाल संकर-1, पूसा कार्तिकी गाजर, पूसा रुधिरा और पूसा असिता, मूली-पूसा स्वेता, पूसा जमुनी एवं पूसा गुलाबी, करेला-पूसा रसदार, पूसा पूर्वी ) और गाजर के संकर पूसा वसुदा, अधिसूचित की गयी है और दो नए संकर यथा करेला पूसा-हाइब्रिड 4 और चिकनी तुरई पूसा श्रेष्ठ, तथा पांच नई प्रजातियां, यथा भिन्डी पूसा भिन्डी 5, बथुआ पूसा ग्रीन, मटर-पूसा प्रबल, बैंगन- पूसा सफ़ेद बैंगन 1 और पूसा हरा बैंगन-1 को विमोचित किया गया.फूलों में गुलाब प्रजाति में (पूसा महक), ग्लैडीयोलस प्रजाति (पूसा सिंदूरी), गुलदाउदी (पूसा गुलदस्ता और पूसा श्वेत), गेंदा में (पूसा बहार और पूसा दीप) का विमोचन किया गया. वहीँ फलों में अंगूर की प्रजाति पूसा अदिति को राजधानी क्षेत्र में वाणिज्यिक उत्पादन के लिए विमोचित किया गया. इन प्रजातियों से किसान अब और अधिक फायदा उठा सकेंगे. इन प्रजातियों को अधिक से अधिक किसानों तक पहुँचाया जायेगा.

English Summary: IARI

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News