1. ख़बरें

फसलों को बर्बाद होने से बचाने के लिए राज्य सरकार का बड़ा प्लान

सचिन कुमार
सचिन कुमार

Grain Storage

आपकी थाली में परोसे जाना वाला अनाज आप तक पहुंचने से पहले किन-किन प्रक्रियाओं से होकर गुजरता है, यह तो आपको पता ही होगा, लेकिन जब हमारे किसान भाई अनाज की पैदावार मुकम्मल कर लेते हैं, तो उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती अनाज के भंडारण की होती है.

अगर अनाज का भंडारण ही सही से नहीं किया जाएगा, तो हमारे किसान भाइयों की मेहनत पर पानी फिर जाएगा, लिहाजा यह हर किसान की कोशिश रहती है कि उसके द्वारा उगाए जा रहे अनाज का भंडारण सही से हो सके, लेकिन अफसोस अभी भी कई राज्यों में अनाजों के भंडारण की उचित व्यवस्था नहीं है, जिसका खामियाजा हमारे किसान भाइयों को फसलों के नुकसान के रूप में भुगतना पड़ता है.

हरियाणा सरकार ने तैयार किया ये बड़ा प्लान

इस दिशा में हरियाणा सरकार ने बड़ा प्लान तैयार किया है. बता दें कि प्रदेश सरकार ने फसलों के भंडारण के लिए गोदामों के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी है. भंडारण निगम, कृषि विभाग, शुगरफेड एवं नगर समितियों की जमीन पर गोदाम बनाने का फैसला किया है.

बता दें कि मौजूदा समय में किसानों के पास भारी मात्रा में अनाज मौजूद है, लेकिन उसका उचित भंडारण नहीं हो पाने की वजह से किसानों को इसका खामिजाया इसके नुकसान के रूप में भुगतना पड़ रहा है. राज्य सरकार जिस तरह के गोदाम बनवाने जा रही है, उसमें 5 लाख 80 हजार मिट्रिक टन क्षमता तक के अनाज रखे जा सकते हैं.

हरियाणा खरीदता है, सबसे ज्यादा अनाज

हरियाणा और पंजाब...यह दो ऐसे राज्य हैं, जो एमएसपी पर सबसे ज्यादा अनाज खरीदते हैं, लिहाजा अनाज के भंडारण की सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना पंजाब और हरियाणा के किसानों को ही करना पड़ता है, इसलिए अब हरियाणा सरकार ने गोदाम बनवाने का फैसला किया है, और अनाज के भंडारण के लिए गोदामों के निर्माण की पूरी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

वर्तमान में कितनी है भंडारण क्षमता

वहीं, अगर हरियाणा में अनाज के भंडारण क्षमता की बात करें तो अभी प्रदेश में 11 गोदाम चल रहे हैं. इनकी भंडारण क्षमता 2025 लाख मिट्रिक टन है. उधर, अब फसलों की मात्रा को देखते हुए गोदामों को बढ़ाने का फैसला किया गया है.

English Summary: Haryana Govt made a plane for Grain storage

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News