चने पर बढा आयात शुल्क, इसलिए सरकार ने लिया फैसला

चना देश की मुख्य फसल है. इस बार चने के रिकॉर्ड उत्पादन को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसके आयात पर फिर शुल्क बढ़ाकर 60 फीसदी कर दिया है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले राजस्व विभाग की ओर से  जारी अधिसूचना में चने पर आयात शुल्क 50 फीसदी से बढ़ाकर 60 फीसदी कर दिया गया है। हालांकि इससे पहले फरवरी के पहले सप्ताह में सरकार ने चना पर आयात शुल्क 30 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया था। बढ़ा हुआ आयात शुल्क एक मार्च 2018 से लागू हो चुका है|

गौरतलब है कि देश में चने की बुआई में किसानों की दिलचस्पी लेने और विदेशों से सस्ता आयात होने से घरेलू कीमतों में भारी गिरावट को देखते हुए दिसंबर 2017 में भारत सरकार ने चने के आयात पर 30 फीसदी शुल्क लगा दिया था। चने  की कीमते सही बनी रहे और दुसरे देशों से इसका ज्यादा आयात न हो इसलिए सरकार ने चने का आयात शुल्क बढ़ा दिया है.

 

चना देश की मुख्य फसल है. इस बार चने के रिकॉर्ड उत्पादन को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसके आयात पर फिर शुल्क बढ़ाकर 60 फीसदी कर दिया है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले राजस्व विभाग की ओर से  जारी अधिसूचना में चने पर आयात शुल्क 50 फीसदी से बढ़ाकर 60 फीसदी कर दिया गया है। हालांकि इससे पहले फरवरी के पहले सप्ताह में सरकार ने चना पर आयात शुल्क 30 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया था। बढ़ा हुआ आयात शुल्क एक मार्च 2018 से लागू हो चुका है|

गौरतलब है कि देश में चने की बुआई में किसानों की दिलचस्पी लेने और विदेशों से सस्ता आयात होने से घरेलू कीमतों में भारी गिरावट को देखते हुए दिसंबर 2017 में भारत सरकार ने चने के आयात पर 30 फीसदी शुल्क लगा दिया था। चने  की कीमते सही बनी रहे और दुसरे देशों से इसका ज्यादा आयात न हो इसलिए सरकार ने चने का आयात शुल्क बढ़ा दिया है.

 

Comments