MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Electric Vehicle में आग लगने से मचा हाहाकार, जानें किन सावधानियों का रखें ध्यान

क्या आप भी इलेक्ट्रिक वाहन के शौक़ीन हैं या आप इससे रोज आना जाना करते हैं? यदि हां, तो आज ही सावधान हो जाइये, क्योंकि हाल ही में कुछ खबरें और वीडियो आयी हैं, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहनों में खुद-ब-खुद आग लग रही है. अब ऐसा क्यों होता है और इससे कैसे निपटा जाये, आइये जानते हैं इस लेख में.

रुक्मणी चौरसिया

प्रदूषण की मार से बचने के लिए आजकल लोग इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) पर निर्भर हो रहे हैं. इसके अलावा जिस तरह से महंगाई बढ़ रही है उसके देखते हुए भी पेट्रोल-डीजल के वाहनों के अलावा लोग इलेक्ट्रिक स्कूटर को ज्यादा पसंद कर रहे हैं, लेकिन इसमें आग न लगे इसका भी ध्यान रखना उतना ही जरूरी हो गया है.

इलेक्ट्रिक बाइक में लगी आग (Electric Bike Fire)

पिछले कुछ दिनों में, ओला इलेक्ट्रिक (Ola Electric) द्वारा बनाए गए कई इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं. यह कुछ उपभोक्ताओं के बीच सुरक्षा संबंधी चिंताओं को पैदा कर रहा है, जो भारत सरकार के उभरते हुए इलेक्ट्रिक क्षेत्र (Electric Sector) के लिए एक शुरुआती झटका है.

हिला देने वाली बात तो यह है कि हाल में आये एक ऐसे मामले के मुताबिक इलेक्ट्रिक स्कूटर (Electric Scooter) में आग लगने की घटना में दो लोगों की मौत (Two Dead) हो गई थी.

क्या इलेक्ट्रिक वाहनों पर निर्भर हो पायेगा भारत (Will India be Able to Depend on Electric Vehicles)

आग की घटनाएं ऐसे समय में हुईं जब भारत सरकार का लक्ष्य 2030 तक देश में कुल दोपहिया वाहनों की बिक्री में मौजूदा दो प्रतिशत से 80 प्रतिशत इलेक्ट्रिक स्कूटर और मोटरसाइकिल बनाना है.

रॉयटर्स का दावा है कि आग की घटनाएं भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के विकास (Development of Electric Vehicles) की संभावना को कम कर सकती हैं.

लो-स्पीड मॉडल (Low Speed Model) से चलने वाले इलेक्ट्रिक स्कूटरों (Electric Scooters) की बिक्री इस साल दोगुनी से ज्यादा हो गई है. हालांकि, आग की घटनाएं कुछ संभावित खरीदारों को अपना खरीद निर्णय लेने से पहले दो बार सोचने के लिए प्रेरित कर रही हैं. आग की घटनाओं के बाद, सरकार ने उचित कार्रवाई करने के लिए कथित तौर पर मामले की जांच शुरू कर दी है.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सरकारी थिंक-टैंक नीति आयोग में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के निदेशक रणधीर सिंह (Randhir Singh, director of electric mobility at government think-tank NITI Aayog) ने कहा कि ईवी उद्योग एक उभरता हुआ क्षेत्र है और कुछ भी नकारात्मक होने का हानिकारक प्रभाव होना तय है. उन्होंने कहा, "स्थिति से कैसे निपटा जाता है, यह निर्धारित करेगा कि उपभोक्ता विश्वास और विश्वास कैसे बनाए रखा जाता है."

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स को आग लगने से बचाने के टिप्स (Tips to Save Electric Two-Wheelers from Catching Fire)

  • गर्मी के दिनों में अपने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर को धीरे से तेज करें.

  • अपने इलेक्ट्रिक वाहन को छाया में पार्क करें, कभी भी सीधी धूप में इसको खड़ा ना करें.

  • अत्यधिक सावधानी के साथ अदला-बदली करते समय बैटरी पैक को संभालें.

  • गर्म दिनों में सामान्य मोड में ईवी की करें सवारी.

  • गर्मियों के समय रात में अपने EV को चार्ज करने का प्रयास करें लेकिन रात भर बिना निगरानी के चार्ज करने से बचें.

  • EV की बैटरी के कमरे के तापमान तक ठंडा होने के बाद उसे चार्ज करने के लिए प्लग करें.

English Summary: Fire in electric vehicle caused outcry, know what precautions to take Published on: 05 April 2022, 05:48 PM IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News