News

मन्दसौर प्रशासन की अनोखी पहल, किसानों को तिलक लगाकर माला पहनाकर किया जा रहा स्वागत

खरीदी केंद्रों पर पहुंचे सभी किसान भाइयों का आज तिलक लगा के माला पहनाकर सम्मान स्वागत किया गया. सभी किसानों को स्वल्पाहार के रूप में चाय नाश्ता भी करवाई गई. कोरोना जैसी महामारी में विकट परिस्थितियों में शासन के निर्देशों का पालन किसानों के द्वारा हुबहू किया गया. इसके लिए प्रशासन ने उन अन्नदाता किसानों का आभार व्यक्त किया. इस कार्य के लिए किसानों के द्वारा भी प्रशासनिक अधिकारियों का धन्यवाद व्यक्त किया गया. किसानों का कहना है कि प्रशासन ने हमको सम्मान दिया उसका हम धन्यवाद देते है हमको अच्छा लगा की मन्दसौर का प्रशासन किसानों को माला पहनाकर स्वागत कर रहा है.

अभी तक की जाने वाली ख़रीदी

कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा बताया गया है कि जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित मंदसौर द्वारा उपार्जन के सम्बंध में जानकारी उपलब्ध कराई गई है जिसमे उपार्जन केंद्रों पर 25 मई प्रातः 9 बजे तक कुल इस प्रकार से खरीदी की गई. 103 उपार्जन केंद्रों से गेहूं की खरीदी की गई. जिसमे 58 गोदाम स्तरीय थे. रबी 2020-21 में कुल पंजीकृत किसान 59 हजार 272 थे. जिसमें से 59 हजार 291 किसानों को प्रथम बार में मैसेज भेजा गया. दूसरी बार में 11 हजार 829 किसानों को मैसेज भेजा गया. शतप्रतिशत किसानों को मैसेज भेजा गया. मैसेज भेजे गए उसमें से कुल 46 हजार 40 किसान उपस्थित हुए. इस तरह से जितने मैसेज भेजे गए उसमें से सिर्फ 78 प्रतिशत किसान उपस्थित हुए. पिछले वर्ष 1 लाख 13 हजार 123 मैट्रिक टन गेहूं की खरीदी की गई थी, जबकि इस वर्ष 2 लाख 71 हजार 724 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी की गई. गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष गेहूं की खरीदी 240 प्रतिशत रही. कुल 2 लाख 25 हजार 227 मेट्रिक टन गेहूं का परिवहन किया जा चुका है. 46 हजार 447 मेट्रिक टन गेहूं का परिवहन किया जाना अभी बाकी है. इस तरह से कुल 83 प्रतिशत गेहूं का परिवहन किया गया. इस वर्ष 1 हजार 832 ईपीओ जारी किये गए. अब तक 38 हजार 306 किसानों को 294.65 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है.

न्यूज़ स्त्रोत-जनसंपर्क कार्यालय, मंदसौर

ये खबर भी पढ़े: खुशखबरी: न मंडियों में भटकने का झंझट, न दाम कम मिलने की चिंता, अब बहुराष्ट्रीय कंपनी को रोजाना बेचें टमाटर की 100 टन फसल



English Summary: Farmers are being welcomed by garlanding the administration

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in