1. लाइफ स्टाइल

श्रीदेवी के मरने से पहले की तस्वीरे आई सामने, कुछ ऐसी थी बॉलीवुड की हवा-हवाई गर्ल की जिंदगी.

बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार श्रीदेवी का शनिवार देर रात दुबई में दिल का दौरान पड़ने की वजह से निधन हो गया. श्रीदेवी, पति बोनी कपूर और छोटी बेटी खुशी के साथ एक पारिवारिक शादी में शिरकत करने के लिए दुबई आयीं थी. श्रीदेवी की अचानक हुई मौत से पूरा देश भी सकते में हैं. उनका पार्थिव शरीर सोमवार तड़के भारत पहुंचेगा और कल अंधेरी स्थित उनके घर में सुबह श्रद्धांजलि दी जाएगी जहां लोग अंतिम दर्शन करेंगे. दोपहर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. 

श्रीदेवी मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने के लिए ही वे दुबई गईं थीं. इसी कार्यक्रम में श्रीदेवी अपने पति के बोनी कपूर के गले लगी थी. इस दौरान उनकी कई तस्वीरें सामने आईं थीं, जिनके बारे में कोई नहीं सोच सकता था कि ये उनकी अंतिम तस्वीरें होंगी.

श्रीदेवी के पार्थिव शरीर का दुबई में पोस्टमार्टम हुआ है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद उनके शरीर को परिवार को सौंप दिया गया है. खबरों के मुताबिक उनका शव आज भारत पहुंच जाएगा और आज ही अंतिम संस्कार होगा.

शादी से ठीक पहले की फोटो

श्रीदेवी के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी दुख जताया है. पीएम ने ट्वीट कर कहा, 'सुप्रसिद्ध अभिनेत्री श्रीदेवी की असामयिक मृत्यु से दुखी हूं. फिल्मी जगत की वे एक अनुभवी अभिनेत्री थीं. उन्होंने अपने लंबे फिल्मी करियर में विविध भूमिकाएं और यादगार परफॉर्मेंस दी हैं.

ऐसा था श्री देवी का फ़िल्मी सफ़र :

श्रीदेवी का जीवन-

श्रीदेवी का जन्म 13 अगस्त 1965 को तमिलनाडु के शिवकासी में हुआ. उन्होने 4 साल की उम्र से ही एक्टिंग करना शुरू कर दिया था और 1967 में तमिल फिल्म मुरुगा में बतौर चाइल्ट एक्टर अपना अभिनय दिखाया. श्रीदेवी ने 1975 में बॉलीवुड फिल्म जूली में चाइल्ड एक्टर के तौर पर काम किया था. श्रीदेवी ने बतौर चाइल्ड एक्टर तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता के साथ काम किया है. 

साल 1976 में मशहूर अदकारा श्रीदेवी ने फिल्म ‘नागिना’ में अपने शानदार अभिनय का परिचय दिया, उसके बाद 1983 में हिम्मतवाला और सदमा में भी उनके काम की तारीफ हुई.

इसके बाद फिल्म मवाली (1983), तोहफा (1984), चांदनी (1989), जैसी जबरदस्त फिल्मों से श्रीदेवी देशभर के लोगों दिलों पर राज करने लगीं. श्रीदेवी ने चालबाज (1989), लम्हे (1991), और गुमराह (1993) जैसी फिल्मों से उन्होंने दुनिया को अपनी ऐक्टिंग का लोहा मनवाने पर मजबूर कर दिया.

1987 में आई ‘मिस्टर इंडिया’ फिल्म उनके कैरियर में ब्लाकबस्टर साबित हुई. इस फिल्म में श्रीदेवी के साथ अनिल कपूर थे, फिल्म के लगभग सारे ही गाने लोगों को खूब पसंद आए. इस फिल्म में अमरीश पुरी का डायलॉग ‘मोगेंबो खुश हुआ’ लोगों के बीच काफी पॉपुलर रहा

कुछ ऐसे थे अर्जुन कपूर से रिश्ते

श्रीदेवी के निधन के बाद उनके सौतेला बेटे अर्जुन कपूर भी मुंबई एयरपोर्ट पर नजर आए. यहां से वह सीधे चाचा अनिल कपूर के घर पहुंचे, जहां सभी लोग श्रीदेवी को श्रद्धांजलि देने जुटे थे. श्रीदेवी की मौत की खबर आने के बाद से उनके फैंस उनके घर के बाहर जमा हैं. इसके अलावा अनिल कपूर के घर के बाहर भी श्री के चाहने वालों की भीड़ जुटी हुई है.

अर्जुन कपूर श्रीदेवी के पति बोनी कपूर की पहली पत्नी के बेटे हैं. उनके और श्रीदेवी के रिश्ते अच्छे नहीं बताए जाते थे. यहां तक कि वह कभी श्रीदेवी और उनकी बेटियों से बात तक नहीं करते थे. अब उनकी कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें वह अनिल कपूर के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे हैं. हालांकि अर्जुन कपूर ने कभी इस बात को नही कबूला की उनके रिश्ते श्रीदेवी के साथ अच्छे नहीं थे.


बता दें कि पिछले हफ्ते श्रीदेवी अपने पति और छोटी बेटी खुशी कपूर के साथ मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने दुबई पहुंचे थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक शादी के बाद बोनी कपूर मुंबई वापस आ गए थे. लेकिन शनिवार को वह वापस दुबई पहुंचे थे. वह श्रीदेवी को सरप्राइज देना चाहते थे. उन्होंने उनके लिए एक डिनर डेट प्लान की थी. जब बोनी ने उन्हें डेट पर चलने के लिए कहा, तब कुछ देर दोनों की बात हुई और फिर तैयार होने के लिए श्री बाथरूम चली गईं. बताया जा रहा है कि यहीं उनकी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. कृषि जागरण परिवार श्रीदेवी के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त करता है.

English Summary: Shri Story

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News