1. कंपनी समाचार

सोमानी सीड्ज़ की अर्ली 55 किसानों के बीच हो रहा लोकप्रिय, कंपनी दे रही किसानों को जानकारी

कहते हैं किसानों के लिए जानकारी और प्रशिक्षण उन्के सफलता के लिए मूलमंत्र है। किसान खेती के जरिए सभी लोगों की जरुरत पूरा करते हैं। देश में इन दिनों किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कई तरह के प्रशिक्षण और योजनाएं चलाई जा रही हैं। लेकिन कई बार किसान उचित जानकारी के आभाव में खेती करता है जिसकी वजह से अपेक्षा के अनुसार कम मुनाफा होता है। लेकिन देश में कुछ ऐसी भी मुख्य कंपनियां हैं जो किसानों को प्रशिक्षण देने और उनकी आय बढ़ाने में तत्पर्य हैं। ऐसी ही देश की एक मुख्य कंपनी है सोमानी सीड्ज़

सोमानी सीड्ज़ कंपनी किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। समय-समय पर कंपनी किसानों के फायदे के लिए अलग-अलग प्रोड्क्ट निकालती है। सिर्फ यही नहीं कंपनी के डीलर, डिस्ट्रीब्यूटर अपने अपने कार्यक्षेत्रों में किसानों के लिए मिटिंग का आयोजन करते है और उन्हें बेहतर किस्म व खेती करने के उचित तरीकों की जानकारी देते रहते हैं। किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए कंपनी के द्वारा उत्तर प्रदेश के आगरा के शमशाबाद गांव में किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी के दौरान किसानों को कंपनी के द्वारा वीकसीत विकसित फूलगोभी की उन्नतशील किस्म अर्ली 55 के बारे में जानकारी मुहैय्या कराया गया।

कंपनी प्रतिनिधि गजेन्द्र दीक्षित ने बताया कि शमशाबाद गांव गोष्ठी के दौरान किसानों ने दिलचस्पी दिखाया और गांव के लगभग 50 किसानों ने भाग लिया। जिसमें किसानों को अर्ली 55 के फायदों और विशेषताओं के बारे में बताया गया। किसानों ने फूलगोभी के इस किस्म को पसंद किया और इसकी सराहना करते हुए इसे अपने खेत में लगाने की प्रतिबद्धता जताई। वहीं जिन किसानों ने पहले ही अर्ली 55 की खेती कर चुके हैं उन किसानों ने इस किस्म पर प्रकाश डाला और इसकी प्रशंसा की। आगरा के अलावा अन्य जिलों में भी कंपनी विभिन्न किस्मों को लेकर किसान गोष्ठियों का आयोजन कर रही है जिसका फायदा किसानों को मिल रहा है।     

English Summary: Popular among the 55 farmers of Somany Seeds, the company giving information to the farmers

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News