दुग्ध उत्पादों के लिए बेहतरीन है 'किसान फ्रेश'

आजकल घर हो या बाहर आप जहां भी जाते है हर जगह पर अलग-अलग प्रकार के खाद्य पदार्थों की पहचान कुछ खास ही होती है। इसीलिए आज तेजी से बढ़ते जा रहे कॉर्पोरेट जगत ने भी घर से लेकर बाहर तक के किचन को सजाने के लिए खाद्य पदार्थों या उससे जुड़े प्रोडक्टस की बिक्री पर ज्यादा फोकस करना शुरू किया है। आज छोटी से लेकर बड़ी कंपनी कृषि से जुड़े उत्पादों को ना केवल बेच रही है बल्कि उसके प्रोडक्टस के बारे में रिसर्च करने में लगी है कि किस तरीके से ग्राहकों को लुभाया जा सकें। फास्ट फूड के साथ ही आज हमारे यहां दुग्ध और उससे जुड़े उत्पाद भी काफी ज्यादा पसंद किए जा रहे है। इसीलिए कई एग्रो कंपनी दुग्ध के उत्पाद और बाजार पर मुख्य रूप से फोकस करने लगी है। ऐसी ही एक कंपनी है 'फार्मर फ्रेश अल्फा मिल्क फूड प्राइवेट लिमिटेड', जो कि अपने ग्राहकों के लिए दुग्ध और डेयरी के उत्पाद को ना केवल बनाने का कार्य कर रही है बल्कि अपने उत्पाद ग्राहकों को बेचकर उसे विश्वस्तरीय पहचान देने का भी कार्य कर रही है। तो आइए जानते है कि दुग्ध उत्पादों से अपनी पहचान बनाने वाली इस कंपनी के बारे में :

कंपनी के बारे में :

अगर हम कंपनी के बैकग्राउंड पर नजर डाले तो अल्फा मिल्कफूड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी करनाल मिल्क फूड लिमिटेड से बाहर एक फेमस डेयरी कंपनी है। कंपनी का मुख्य उद्देश्य निष्पक्ष तरीकों से ग्राहकों के बीच में सर्वोतम गुणवत्ता वाले दूध और ड़ेयरी से जुड़े उत्पादों को प्रदान करना है। ताकि यह उपभोक्ताओं और अपने शेयरधारकों को भी उच्च मूल्य वाले उत्पादों को प्रदान करें।

कंपनी के उत्पाद :

अल्फा मिल्कफूड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का प्रमुख उद्देश्य अपने डेयरी उत्पादों को लोगों तक पहुंचाना है। कंपनी ने इसके लिए अल्ट्रा-आधुनिक प्रसंस्करण सुविधाओं और कच्चे माल का परीक्षण करने, विनिर्माण प्रक्रिया आदि के लिए उच्च गुणवत्ता से लैस आधुनिक प्रयोगशालाओं को तैयार कर रखा है जो कि कुल गुणवत्ता प्रबंधन की सुविधा को सुनिश्चित करता है। वर्तमान में कंपनी जो डेयरी प्रोडक्ट को बना रही है उनमें ये सारी चीजे शामिल है :

1. दही, 2. मक्खन 3. पनीर, 4. डेयरी क्रीम, 5. पशचुरीकृत, 6. घी, 7. छाछ और लस्सी, 8. पश्चुरीकृत दूध, 9. दूध पाउडर

कंपनी के संयंत्र :

चूंकि कंपनी काफी बड़ी मात्रा में दुग्ध उत्पादों को लोगों को उपलब्ध करवाती है तो जाहिर सी बात है कि उसी हिसाब से कंपनी का इंफ्रास्ट्र्कचर भी होगा। कंपनी वर्तमान में हरियाणा के करनाल, उत्तर प्रदेश के हाथरस में दो संचालित संयंत्र है। इसके अलावा दो उच्च सुविधा से लैस प्लांट प्रतिदिन 9 मिलियन दूध को प्रोसेस करते है। दोनों ही प्लांट आज के समय की मल्टी तकनीकों का उपयोग करते है। सभी तरह की सुविधाएं एफएसएसएआई और ईआईसी के मानदंडों से मिलती है।

ग्रामीण स्तर पर सेंटर :

कंपनी  ना केवल दुग्ध उत्पादों को बनाती है बल्कि वह गांवों में जा जाकर वहां के किसानों को ब्लॉक लेवल पर शिक्षित भी करते है। इसके अलावा वह दुग्ध की गुणवत्ता को और सुधारने पर जोर देते है। कंपनी गांवों के किसानों से पूरा फीडबैक भी लेती है और उनकी उत्पाद से जुड़े प्रश्नों के समाधान को खोजने पर भी कार्य करती है। कंपनी के लिए किसान पूरे दूध को गांवों से एकत्र करते है। यह दूध किसानों के लिए एकत्र किया जाता है और उनको थोक कूलर पोस्ट में जमा किया जाता है। इसके लिए कंपनी ने 400 गांवों में ये कूलर खरीद रखें है। पूरी प्रक्रिया के बाद दुग्ध को खुदरा केंद्रों पर भेज दिया जाता है जहां से ग्राहक आसानी से इसको खरीद लेते है।

उत्पाद की प्रक्रिया :

अल्फा मिल्क फूड प्राइवेट मिमिटेड एक विशेष प्रक्रिया के तहत अपने दुग्ध उत्पादों को लोगों तक पहुंचाती है। इस प्रक्रिया के तहत सबसे पहले दुध को स्वस्थ गाय और भैंस से प्राप्त किया जाता है जिसके लिए किसानों से सीधा संपर्क स्थापित किया जाता है। दूसरी प्रक्रिया में इस दूध को एक बल्क कूलर में एकत्र किया जाता है और उसे 4 डिग्री के तापमान पर ठंडा किया जाता है। इसके बाद दूध को प्रोसेस प्रक्रिया से गुजारा जाता है जहां पर इसे पाश्चुरीकृत भी किया जाता है ताकि पैंकिग से पहले ये निश्चित तापमान पर शुद्ध और ठंडा बना रहे। इसके बाद दूध को पैकेटो में पैक करके विभिन्न प्रकार के स्टोर में बेचने के लिए भेज दिया जाता है। दूध और डेयरी उत्पाद पूरी प्रकिया के बाद आसानी से ग्राहकों तक पहुंच जाता है।

गिरीश पाण्डेय, कृषि जागरण

Comments