Corporate

‘केओइएल’ बनी जेनसेट्स आई-ग्रीन की इन्टेलिजन्ट श्रेणी पेश करने वाली पहली कंपनी

‘केओइएल’ ग्रीन भारत में 30 फीसदी से अधिक बाज़ार की हिस्सेदारी के साथ सबसे बड़ी और प्रमुख पावर जेनरेटिंग सेट्स की निर्माता उभरकर सामने आई है.‘केओइएल’ ने 8 फरवरी को तकनीकी रूप से अधिक विकसित इन्टेलिजन्ट डीजी सेटों की अपनी नवीनतम उत्पाद श्रेणी की घोषणा की. इस श्रेणी को आई-ग्रीन श्रृंखला कहा जाता है.

इस अवसर पर, ‘केओइएल’  के मुख्य परिचालन अधिकारी, श्री संजीव निमकर ने बताया कि, ‘केओइएल’  में हर अभिनवता में ग्राहक को उसकी सूविधाओं को ध्यान में रखा जाता है. ये उत्पाद डीजी सेट पर किसी और स्थान से निगरानी रखने जैसे अंतर्निहित सुविधा के साथ आते हैं. यह डीजी सेट असल में अपनी समस्याओं का ख़ुद ही पता लगा लेता है और यदि कोई समस्या हो तो इलेक्ट्रॉनिक तरीक़े से नियंत्रण कक्ष को उसकी जानकारी भी दे देता है. यह डीजी सेट किसी भी संभावित नुकसानदायक घटना से ख़ुद को सुरक्षित रखता है.

इतना ही नहीं आई-ग्रीन डीजी सेट एक अंतर्निहित एएमएफ पैनल के साथ आता है. इसका मतलब यह है कि ग्रिड की बिजली जाने पर डीजी सेट अपने-आप चालू हो जायेगा और जब ग्रिड की बिजली आ जायेगी तो ख़ुद-ब-ख़ुद बंद भी हो जाएगा.‘केओइएल’ भारत की पहली ऐसी कंपनी है जो इस सुविधा को 5 केवीए से ही मानक सुविधा के तौर पर पेश कर रही है.

उन्होंने बताया कि, “‘केओइएल’  आईग्रीन एक हरित पर्यावरण के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता के अनुरूप इन में जेनसेट्स को एक नया रूप देने का वादा करती है“. इस रेंज में क्यूआर कोड आधारित सर्विस नियमावली, एलईडी आधारित पावर स्टेटस इंडिकेटर, बोल्टरहित कैनोपी डिज़ाइन आदि जैसी सुविधायें साथ आती  हैं.

श्री निमकर ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि डीजी सेट के सभी ग्राहकों को किर्लोस्कर की ओर से पेश किए जा रहे इन “थिंकिंग जेनसेट्स“ द्वारा प्रदान की जानेवाली सुविधा और आराम का अनुभव लेना चाहिए और इसलिए उन्होंने क़ीमतों को बढ़ाए बिना इन फ़ायदों की पेशकश की है.

अग्रणी होने की अपनी भूमिका को चरितार्थ करते हुए किर्लोस्कर समूह ने इन उन्नत उत्पाद श्रेणियों को प्रस्तुत करने के साथ उच्चतम ग्राहक सुविधा प्रदान कर इस उद्योग का स्तर ऊँचा उठा दिया है.इस समय किर्लोस्कर ऑयल इंजिन्स उत्पादों की आई-ग्रीन श्रृंखला के माध्यम से अपने ग्राहकों को “विश्व स्तरीय अनुभव“ प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है.



Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in