Commodity News

चीनी में प्रति क्विंटल 330 रुपये का उछाल, मांग के अनुसार आपूर्ती कम होने से उछाल

देश की राजधानी दिल्ली के थोक बाजार में चीनी की कीमतों में उछाल आया है। चीनी की कीमत में प्रति क्विंटल कीमत में 330 रुपये का उछाल आया है। अगर कीमतों में वृद्धि की बात करें तो यह मौजूदा महीने में मांग के मुकाबले आपूर्ति कम होने की वजह से हुआ है। वहीं बाजार विशेषज्ञों ने भी इस विषय पर अपनी राय पेश की है उनका कहना है कि थोक व्यापारियों व आइस्क्रीम और सॉफ्ट-ड्रिंक्स जैसे थोक उपभोक्ताओं की ओर से भारी खरीद के साथ मिलों की तंग आपूर्ति के कारण चीनी की कीमतों में उछाल आया है।

कीमतों में वृद्धि की बात करें तो इसे कुछ ऐसे समझा जा सकता है। तैयार चीनी एम-30 व एस-30 की कीमतें 3,400-3,550 रुपये और 3,390-3,540 रुपये से 330 रुपये प्रति क्विंटल बढ़कर दिन के अंत तक 3,580-3880 रुपये और 3,570-3,870 पर देखी गई। पिछले कुछ दिनों से चीनी के दामों में असंतुलन बना हुआ है। पिछसे महिने चीनी के दामों को देसते हुए केंद्र ने चीनी की एक्स फ्लोर मिल्स वैल्यू को 29 रुपये प्रति किलो कर दिया था। जिसके बाद इसके दामें में वृद्धि को लेकर चीनी मिलें और कुछ संगठनों ने इसकी वृद्धि के लिए लगातार गुहार लगा रहे थे।

वहीं देश में चीनी उत्पादन के आकड़ों की अगर बात करें तो इस वर्ष 30 अप्रैल 2018 तक, चीनी मिलों ने चालू मौसम में 310.37 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। और अनुमान के अनुसार यह उम्मीद की जा रही है कि मौजूदा सीजन के दौरान चीनी उत्पादन 315-320 लाख टन के बीच रह सकता है। आंकड़ें इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (इसमा) के वेबसाइट पर दी गई हैं। वहीं 112 लाख टन चीनी उत्तर प्रदेश और 310.37 लाख टन चीनी महाराष्ट्र में उत्पादन किया गया है।

कृषि जागरण



English Summary: Bounce of Rs. 330 per quintal in sugar, buoyancy as demand decreases.

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in