100 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी से चीनी की कीमतों में उछाल

केंद्र सरकार ने चीनी के आयात पर लगने वाले आयात शुल्क को मौजूदा शुल्क 50 प्रतिशत से बढ़ाकर दोगुना यानि कि 100 प्रतिशत कर दिया है। खाद्य मंत्रालय की सिफारिशों को मानते हुए चीनी आयात पर अब 100 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी लगेगी। हालांकि सरकार ने अभी तक किसी तरह की अधिसूचना जारी नहीं की है।

गौरतलब है कि लगभग 2 हफ्ते पहले देश में चीनी मिलों के संगठन इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन अर्थात् इस्मा ने भी चीनी पर आयात शुल्क बढ़ाने की मांग की थी और इस्मा की इस मांग का समर्थन करते हुए खाद्य मंत्रालय ने आयात शुल्क बढ़ाने की सिफारिश की थी।

इस्मा ने संभावना जताई थी कि पाकिस्तान अपने यहां से चीनी निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी दे रहा है, ऐसे में पाकिस्तान से भारत को चीनी आयात हो सकती है। इस्मा के अनुसार चीनी आयात होने से देश में चीनी की कीमतें घट सकती हैं जिससे चीनी उद्योग पर विपरीत असर पड़ सकता है। यही नहीं यदि कीमतें नीचे आती हैं तो किसानों को गन्ने का भुगतान करने में भी परेशानी हो सकती है।

गन्ना किसानों के हितों व इस्मा की मांग को देखते हुए सरकार ने चीनी पर आयात शुल्क 100 प्रतिशत तो कर दिया है लेकिन इससे खुदरा बाजार में चीनी की कीमतें बढ़ने की आशंका बढ़ गई है।

Comments