मोबाइल ऐप के जरिए किसानों से हल्दी खरीद रही इरोड मार्केटिंग को-ऑपरेटिव सोसायटी

तमिलनाडु में इरोड एग्रीकल्चरल प्रोड्यूसर्स को-ऑपरेटिव मार्केटिंग सोसायटी हल्दी की खरीद-फरोख्त का बाजार आसान कर दिया है। आप को बता दें कि यह कंपनी सीधे किसानों से हल्दी की खरीद करती है। साथ ही किसानों को कर्ज भी देती है। इसका उत्पाद को खरीदने का तरीका ऑनलाइन है। यह किसानों से बात करके हल्दी की बुकिंग करती है। खास बात यह है कि यह हल्दी में मूल्य संवर्धन भी करती है। इसके साथ ही हल्दी के बैग के बदले किसानों को कम ब्याज पर कर्ज दिया जाता है।

जब अधिकतर किसान बाजार में दलालों के शिकार होते हैं ऐसे में यह सोसायटी किसान को उत्पाद की सीधे बिक्री के लिए आमंत्रित करती है। मोबाईल ऐप के जरिए यह समय की बचत भी करती है।

सोसायटी में लगभग 45,929 किसान सदस्य हैं। यह सोसायटी किसानों को कम ब्याज पर कर्ज भी प्रदान करती है। हल्दी के बैग को भंडारगृह में रख दिया जाता है। तीन महीने के लिए हल्दी बैग को मुफ्त में रखा जाता है जबकि इसके बाद दो रुपए प्रति बैग के हिसाब से चार्ज किया जाता है।

भंडारित हल्दी की यहां पर मूल्य संवर्धन कर अनुकूल समय में अच्छा मुनाफा कमाने के लिए रखा जाता है। जिस समय में हल्दी का उत्पादन अच्छा होता है ऐसे में सरप्लस उत्पादन के बीच मूल्य संवर्धित हल्दी की बिक्री अच्छी होती है।

सोसायटी मंगलम ब्रैंड के जरिए हल्दी पाउडर, मिर्च पाउडर, रसम-मिक्स पाउडर आदि बनाकर बेचती है। बीते सत्र में सोसायटी के मूल्य संवर्धित उत्पादों से 7.5 करोड़ का बिजनेस हुआ है।

Comments