Search results:


पौधों की वे प्रजातियां जिनको साल 2018 में खोजा गया

साल 2018 अब अंतिम चरण में है जल्द ही नये साल 2019 का आगाज हो जाएगा। ऐसे में इस साल देश-दुनिया में कई ऐसी महत्वपूर्ण खोजें हुई है जिन्हें मानवीय लिहाज…

विदेशी मछलियों की तादाद बढ़ने से देसी मछलियों का अस्तित्व खतरे में

गंगा और इसकी सहायक नदियों में पिछले कई वर्षों के दौरान विदेशी प्रजाति की मछलियों की संख्या के बढ़ जाने से कतला, रोहू और नैन जैसी कई तरह की देसी मछलियो…

छत्तीसगढ़ के इस जिले में है मसाला खेती की अपार संभावनाएं

छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले को गन्ने की खेती के कारण एक अलग पहचान मिली है। यहां के अधिकांश किसान गन्ने की खेती पर ही निर्भर है और इसीलिए वह इस खेती से क…

इस खबर को पढ़ने के बाद आप सब्जीवाले से धनिया जरूर खरीदेंगे...

भारतीय में धनिया का इस्तेमाल मुख्यरूप से खाने को बेहतरीन रूप से सजाने के लिए किया जाता है. हरे धनिये की पत्तियां खाने और बीज दोनों के ही स्वाद को बढ़ा…

कितना ज़रुरी है बकरी का दूध ?

भारत में पशुपालन एक महत्वपूर्ण व्यापार है. गाय, भैंस और बकरी की मात्रा भारत में बहुत अधिक है. बकरियों की 20 से भी अधिक प्रजातियां हैं लेकिन इन प्रजाति…

अश्वगंधा के गुणकारी फायदें

अश्वगंधा एक ऐसा पौधा होता है जिसके जरिए आयुर्वेदिक औषधि बनती है. इसको मुख्य रूप से चिकित्सा पद्धति में उपयोग किया जाता है. इसके अलावा इसको नकदी फसल के…

हल्दी के पानी का लाभ डायबिटीज......

हल्दी भारतीय वनस्पति है. यह अदरक की प्रजाति का 4 से 5 फीट तक बढ़ने वाला पौधा है. हल्दी को आयुर्वेद में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण स्थान दिया है. औषधि ग्रं…

महुआ ड्रिंक अब अनार और अदरक के फ्लेवर में मिलेगा

भारत के पांरपरिक आदिवासी जगहों में मशहूर महुआ ड्रिंक का नाम तो आपने सुना ही होगा. दरअसल यही महुआ ड्रिकं भारत के आदिवासी इलाकों में मशहूर है. इसी महुआ…