देश के सबसे युवा ट्रैक्टर ब्रांड की बिक्री में 45 फीसदी वृद्धि

सोनालीका ट्रैक्टर्स के निर्माता देश के सबसे युवा ट्रैक्टर ब्रांड इंटरनेशनल ट्रैक्टर्स लिमिटेड (आईटीएल) (जिसने होशियारपुर में दुनिया का नंबर 1 एकीकृत ट्रैक्टर्स मैन्युफैक्चरिंग प्लांट तैयार किया है) ने जनवरी 2018 के दौरान 6039 ट्रैक्टर्स बेचे जबकि पिछले साल की समान अवधि में 4172 यूनिटों की बिक्री की गई थी, जो 45 फीसदी वृद्धि दर्शाता है। इस वृद्धि दर को हासिल करने में सभी क्षेत्रों ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है जबकि दक्षिण के बाजारों में भी कंपनी की मौजूदगी मजबूत बन रही है। इस माह का निर्यात 735 यूनिट दर्ज किया गया।

कंपनी ने वर्ष के पहले माह के दौरान ही अच्छा प्रदर्शन किया है और हाल में बजट घोषणा से एक बार फिर यह साबित हो गया है कि विव 2018-19 के दौरान कृषि क्षेत्र को कितना लाभ होगा।

इस बारे में रमन मित्तल, कार्यकारी निदेशक, सोनालीका आईटीएल ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा विव 2018-19 का बजट किसान उन्मुख है और इसमें कृषि क्षेत्र को भी प्रमुखता दी गई है। खरीफ की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि करने, खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए अधिक आवंटन तथा अन्य कृषि कार्यक्रमों से क्षेत्र के विकास में तेजी आएगी। हम खेती-बाड़ी से बेहतर आय प्राप्ति और कम खर्चीली कृषि प्रथाओं के जरिए बजट में किसानों की आमदनी और मुनाफा बढ़ाने पर जोर देने की भावना की भी सराहना करते हैं। बेहतर वृद्धि से किसान मैकेनाइजेशन पर निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सकते हैं जिससे उनकी जमीन से अधिक उपज प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

सोनालीका हमेशा से ही कस्टुमाइज्ड फार्मिंग सॉल्यूशंस पर जोर देती है जिससे उत्पादकता बढ़ती है। हम कुछ उन चुनिंदा ब्रांड्स में से हैं जिन्होंने किसानों की आमदनी को बढ़ाने के मकसद से नीति आयोग द्वारा लागू चैंपियंस ऑफ चेंज प्रोग्राम में भागीदारी की है।

गौरतलब है कि सोनालीका इंटरनेशनल ट्रैक्टर्स लिमिटेड हैवी ड्यूटी ट्रैक्टर रेंज के निर्माता हैं जो 20एचपी से 120एचपी की रेंज के टेक्नोलॉजी की दृष्टि से उन्नत ट्रैक्टर्स का निर्माण करते हैं। सोनालीका भारत की तीसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता है और घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कंपनी ने अपनी साख बनाई है। कंपनी ने महज 2 दशकों में दुनिया के 90 से अधिक देशों में 8 लाख से अधिक ग्राहकों का भरोसा हासिल कर दिखाया है जो एक उल्लेखनीय उपलब्धि है।

दुनियाभर में ट्रैक्टर्स की बढ़ती मांग को पूरा करने के मकसद से सोनालीका ने होशियारपुर, पंजाब में विश्व की अव्वल नंबर की एकीकृत ट्रैक्टर निर्माण इकाई स्थापित की है। इस संयंत्र की कुल सालाना उत्पादन क्षमता करीब 3 लाख ट्रैक्टर्स की है। हर 2 मिनट में एक ट्रैक्टर बनाने की क्षमता के साथ नए प्लांट की क्षमता 2 लाख ट्रैक्टर्स के निर्माण की है जबकि दूसरे प्लांट की वार्षिक क्षमता 1 लाख ट्रैक्टर्स की है। कंपनी की यनमार, जापान के साथ व्यावसायिक भागीदारी की है।

Comments