यह कंपनी तैयार है पतंजलि को टक्कर देने के लिए...

पंतजलि आयुर्वेद के बाद अब फ्यूचर ग्रुप भी आयुर्वेदिक पर्सनल केयर प्रॉडक्ट्स के बाजार में उतरने की तैयारी में है। फ्यूचर ग्रुप के सीईओ किशोर बियानी ने बताया कि इस सेगमेंट में मौजूदगी बढ़ाने के लिए वह दूसरी कंपनियों को खरीदने पर भी विचार कर रहे हैं। फ्यूचर कंज्यूमर जल्द ही आयुर्वेदिक हेयर ऑयल और दूसरे ब्यूटी प्रॉडक्ट्स लांच करेगी।

बियानी ने कहा, 'हम आयुर्वेदिक ब्यूटी सेगमेंट में अधिग्रहण करने की सोच रहे हैं। इनकी कीमत यानी वैल्यूएशन थोड़ी ज्यादा हो सकती है, इसके बावजूद हम इस सेगमेंट में कंपनियों या ब्रांड्स को खरीदना चाहते हैं।' उन्होंने आगे कहा कि भारत में मॉडर्न रिटेलिंग की शुरूआत करने वाले फ्यूचर ग्रुप को पतंजलि की तेज ग्रोथ से प्रेरणा मिली है। वे एफएमसीजी बिजनेस के हर्बल प्रॉडक्ट्स मार्केट में भी बड़ा बिजनेस खड़ा करना चाहते हैं। वित्त वर्ष 2018 में ग्रुप का एफएमसीजी बिजनेस 3,500 करोड़ रुपए तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 2017 में 1,645 करोड़ रुपए का था। बियानी ने बताया कि वित्त वर्ष 2019 में वह इस सेगमेंट में 70-80 फीसदी ग्रोथ हासिल करना चाहते हैं। वित्त वर्ष 2019 में इस सेगमेंट में उनकी कंपनी की आमदनी एक अरब डॉलर से कुछ कम रह सकती है। 

बियानी ने लॉन्ग टर्म गोल के बारे में बताया कि 2021-22 तक हम 20,000 करोड़ का बिजनेस खड़ा करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि उनके टेस्टी टी ब्रांड की बिक्री ही 2019 तक 1,000 करोड़ रुपए से अधिक हो जाएगी। बियानी की बेटी अश्नी ग्रुप का एफएमसीजी बिजनेस सीईओ सदाशिव नायक के साथ मिलकर चला रही हैं। बियानी के मुताबिक, पैकेज्ड टी सेगमेंट में उनकी कंपनी ने अच्छी बाजार हिस्सेदारी हासिल की है। वहीं, हाल में कंपनी ने टेस्टी टी ब्रांड के तहत मारी, डाइजेस्टिव और कुकीज क्रीम बिस्किट्स लांच किए हैं। उन्होंने बताया कि बॉडी वॉश कैटिगरी में उन्होंने साबुन को रिप्लेस करने वाले प्रॉडक्ट्स 39 रुपए में लॉन्च किए हैं। इसके बाद दूसरे ब्रांड्स को भी दाम कम करना पड़ा। वहीं, साल में बियानी की कंपनी पांच करोड़ साबुन बेच रही है। 

Comments