Search results:


क्यों दिल दुखा देता है किसी का जाना....

जुगल (ट्रॉटस्की) आज भी वैसा ही था जैसा और दिनों में रहा करता था. सादी वेशभूषा और चेहरे पर वही हास्य का रंग. बल्कि उसने ऑफिस में और दिनों की तरह लोगों…

तूझे चाहता हूं मैं !

अकेले में जब खुद को अकेला पाता हूं मैं तूझे चाहता हूं मैं नादानियां कौन याद रखता है ? भूल जाता हूं मैं तूझे चाहता हूं मैं

जिनकी होने वाली है शादी वो इन बातों का रखें ध्यान !

शादी होना कोई नई बात तो नहीं है. यह रिवाज़ सदियों से जारी है. एक पुरुष और स्त्री जब अपनी मर्ज़ी से एक साथ रहने का फैसला करते हैं तब उस फैसले को समाज म…

दीवानगी और दोस्ती की बेजोड़ कहानी -'कबीर सिंह'

दीवानगी, सच्चा प्यार, मोहब्बत और इश्क. ये सब आज किसी गुज़रे ज़माने की बात लगते हैं. आज इन सबकी कीमत घट गयी है. एक ओर सिनेमा को जहां समाज में अश्लीलता…

ऐसा फिल्मों में होता है !

हवाएं चलने लगती है मौसम जवां होता है सौ-सौ लड्डू फूटते हैं ऐसा तो फिल्मों में होता है

इश्क है तो इज़हार कर !

गर किसी को चाहता है दिल वक्त-बेवक्त का न इंतज़ार कर किनारे खड़ी ये कश्ती दूर निकल जाएगी गर इश्क है तो इज़हार कर राह में जितनी तकलीफें आएं सबको…