नौकरी ने नहीं खेती से मिली इन्हें पहचान, बने खेती के हाईटेक गुरु

राजस्थान के युवक महेंद्र सिंह दाहिमा ने महाविद्दालय की नौकरी छोड़कर बागवानी कर अधिक लाभ कमाया। वह अपने ग्रीनहाउस से वार्षिक सात से आठ लाख रुपए कमा लेते हैं। उन्होंने ग्रीनहाउस से खेती का कार्य वर्ष 2015 से शुरु किया था। इस बीच उन्होंने अपनी एक अलग पहचान स्थापित कर ली है। अन्य युवक उनको एक उदाहरण के तौर पर देखते हैं। ग्रीनहाउस में टमाटर, शिमला मिर्च व खीरा आदि की खेती करते हैं।

उल्लेखनीय है कि वह अपने पिता के सेवाकाल के दौरान ही ग्रीनहाउस में रुचि रखते थे। जिससे प्रेरित होकर उन्होंने महाविद्दालय की सेवा छोड़कर खेती करना शुरु की। ग्रीनहाउस की हाईटेक खेती कर वह 2 पालीहाउस व नेट शेड के जरिए आज सफल किसान के तौर अच्छी आमदनी हासिल कर रहें हैं। वह सीजन के अनुरूप खेती करते हैं। उगाई गई सब्जियों को वह आस-पास के शहरी इलाकों में बेचते हैं। जाहिर है कि शहरी इलाकों के आस-पास वह सब्जी की अच्छी माँग है।

इस दौरान वह सब्जी की सीजनल खेती से युवाओं को प्रशिक्षण भी दे रहें हैं। यही नहीं किसानों को भी वह पालीहाउस के अन्तर्गत किसानी के गुर सिखाते हैं लेकिन युवाओं को खेती में रुचि बढ़ाने के लिए वह उन्हें ग्रीनहाउस का मॉडल के अनुसार प्रशिक्षित करते हैं।

Comments