17 साल से उलझी पहेली, आखिर क्यों बरसा था आसमान से खून...

हास्य में घटनाओ को तो हर कोई जानने के लिए बेक़रार रहता है, लेकिन एक ऐसी घटना जो लोगो ने अपनी आँखों से देखी और उसे महसूस किया, वह आज भी एक रहस्य बन कर रह गई.

जी हाँ हम बात कर रहे है केरल में हुई खून की बारिश की. 5 जुलाई 2001 को केरल में लाल रंग की बारिश हुई थी जिसे लोगो ने खून की बारिश का नाम दे दिया. जिसका सच तो कोई नहीं जनता लेकिन यह एक रहस्य बन के रह गई है.

वैज्ञानिकों के लिए यह कहना मुश्किल है कि इस लाल रंग की बारिश के पीछे की वजह क्या है.  हालांकि, केरल के लोगो का कहना था कि यह बारिश खून की है लेकिन वैज्ञानिकों के अनुसार यह बारिश खूनी बारिश नहीं थी.

दरअसल जिस दिन केरल में लाल बारिश हुई थी ठीक उसी दिन वहां के लोगो ने हरे और पीले रंग की बारिश भी देखी थी. वैज्ञानिको ने यह रंगीन बारिश की वजह प्रदूषण बताया था, लेकिन जैसे ही इस पानी को टेस्ट किया गया तो सबके होश उड़ गए. इस पानी में जीवन होने के साक्ष्य मिले थे. तब वैज्ञानिको  को लगा के इस पानी में जीवन है.

उस घटना के बाद वैज्ञानिकों ने इसमें डीएनए तलाशने की कोशिश की पर वो असफल रहे. इस लाल पानी पर अन्तराष्ट्रीय स्तर पर खोज शुरू हो गई.

सन 2012 में वैज्ञानिको को इस लाल बारिश में कुछ डीएनए के सैंपल दिखाई देने लगे. दावा किया जाने लगा की इस बारिश का सम्बन्ध एलियन से है. लेकिन यह घटना आज भी रहस्य बन कर रह गई जो अभी तक सुलझ नहीं पाई.

- प्रियंका वर्मा 

Comments