हर साल चार फसलों की खेती कर सफल हुए राजेंद्र प्रसाद...

 

मन में कुछ करने की इच्छा हो तो उसे पूरा होने से कोई रोक नही सकता है. इस बात को साबित किया है जम्मू कश्मीर के उत्तमी मजुआ के किसान राजेंद्र प्रसाद ने एक साल में चार फसल लगा कर. राजेंद्र प्रसाद से कृषि विभाग के निदेशक एचएस राजदान ने फील्ड में उनसे मुलाकात कर बधाई दी,  इस मौके पर उनके साथ कृषि विभाग के अधिकारी संयुक्त निदेशक राम लाल भगत,  मुख्य कृषि अधिकारी एनके दुबे,  सूचना अधिकारी जेसी रैना,  आदि उपस्थित रहे ।

किसान राजेंद्र प्रसाद कुछ सालों से खेती कर रहे हैं. खेती में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं. सबसे पहले उन्होंने मक्की लगाई  फिर धान  उसके बाद आलू और अब उनके खेतों में खीरा पूरी फसल दे रहा है. इस साल उन्होंने खीरा की खेती दो एकड़ ज़मीन पर की. 

खीरा प्रतिदिन मंडी भेजा जा रहा है. कृषि निदेशक राजदान ने किसान राजेंद्र प्रसाद की खूब तारीफ करते हुए कहा कि बाकी के किसानों को इनसे सीख लेनी चाहिए। एक किसान एक साल में चार चार फसलें लगा रहा है जो कि दूसरे किसानों के लिए एक प्रेरणा है। इसी के साथ किसान राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि खेती के लिए लगन उसका जनून है. इस जनून की लिये ही वह खेती में उतरे और आज नए जमाने की खेती करके खेती को लाभदायक बनाया। किसान राजेंद्र प्रसाद का कहना है, कि बाकी किसान भी ऐसा कर सकते हैं,  अगर उनमे जूनून है तो।

वहीं चक भागवां में निदेशक ने किसानों से कहा कि वे नए जमाने की खेती करें और एक से अधिक फसलें लगाएं और राजेंद्र प्रसाद से सीखे की खेती से लाभ कैसे हो सकता है. चक चिमना में निदेशक राजदान ने योजना के चलते सब्सिडी पर एक ट्रैक्टर जनक राज भगत को दिया। वहीं मौके पर किसानों ने पेश आ रही परेशानियों के बारे में भी बताया।

- वर्षा 

Comments