फूलों की खेती करने वाले किसानों को मिल सकता है लाभ, 150 करोड़ रुपए की है योजना

फूलों की खेती किसानों के बीच काफी लोकप्रिय हो रही है... कई किसानों ने फूलों की खेती के जरिए अपनी आय बढ़ाने में सफलका हासिल की है...सरकार भी फूलों की खेती के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही हैं... ताजा खबर हिमाचल प्रदेश की है जहां फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए 150 करोड़ रुपए की एक पंचवर्षीय महत्वकांक्षी योजना बनाई गई है... योजना के तहत प्रगतिशील किसानों को फूलों की खेती को बड़े पैमाने पर अपनाने के प्रति प्रेरित किया जाएगा... इस योजना का नाम हिमाचल पुष्प क्रांति है और इसके तहत इस वर्ष 10 करोड़ रुपए खर्च किए जाएगा...

ज्यादा से ज्यादा किसान फूलों की खेती का रुख करें इसके लिए योजना में किसानों को हर प्रकार के प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है.... इस योजना को प्रभावशाली ढ़ंग से लागू करने के लिए बागवानी विभाग को नोडल एजेंसी बनाया गया है... वहीं योजना का मुख्य उद्देश्य फूलों की ववयावसायिक खेती और सजावटी पौधों की खेती को बढ़ावा देकर स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करना और आने वाले समय में हिमाचल को एक पुष्प राज्य के रूप में उभारना है... हांलाकी राज्य की बात करें तो काफी संख्या में किसान यहां पर फूलों की खेती करते हैं...

राज्य में फूलों की व्यावसायिक खेती की अगर बात करें तो यहां लगभग 87.25 करोड़ की खेती हो रही है... जिसमें लगभग 5 हजार कृषक 643 हेक्टेयर भूमि में फूलों की खेती कर रहे हैं... राज्य में मुख्यत: गुलगाउदी, जरबैरा, कारनेशन, लिलियम, गेंदा, गुलाब व अन्य मौसमी फूलों की खेती होती है... राज्यय में इस समय छ: फूलों की नर्सरियां स्थापित की गई हैं... इसके अलावा गुणवत्ता वाली फूलों की किस्में उपलब्ध करवाने के लिए चायल और पालमपुर में मॉडल फूल उत्पादन केन्द्र स्थापित किए गए हैं...

 

Comments