देखभाल कर कृषि यंत्रो का चुनाव करें किसान - गोविन्द शर्मा

कृषि यन्त्र में आने वाली नई तकनीकों ने खेती करने के मायनों को ही बदल दिया। बदलते जमाने के अनुसार हमने अपनी आदते बदलीं, काम करने के तरीकों को भी बदला। इन बदलावों को देखा जाए तो काफी अंतर नजर आता है। हमारी तेज दौड़ती नजर से भी अधिक तेजी से तकनीक का इस्तेमाल मानव जीवन में बढ़ा है। क्षेत्र चाहे कोई भी हो लेकिन तकनीकी ने हर जगह पर अपना कब्जा जमाया है। कृषि के क्षेत्र में भी तकनीकी ने तेजी के साथ अपने कदम बढ़ाए है । जिसमें कृषि यंत्रीकरण एक ऐसा ही क्षेत्र है। कृषि यंत्रीकरण के चलते देश में कृषि में काफी बदलाव हुए हैं। इसमें निजी क्षेत्र की कंपनियों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। निजी क्षेत्र की इन कंपनियों ने किसानों के काम को आसान कर दिया। इंडिया एग्रोविजन इम्प्लीमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड कृषियंत्रीकरण क्षेत्र की तेजी से उभरती हुई कंपनी है जो कि किसानों को नई तकनीकों के साथ जोड़ रही है। कंपनी के विषय में कंपनी के मुख्य सलाहकार गोविन्द शर्मा से बातचीत के कुछ प्रमुख अंश .

इंडिया एग्रोविजन इम्प्लीमेंट्स की शुरुआत कैसे हुई ?

हर एक शुरुआत के पीछे कोई कारण या उद्देश्य होता है। ठीक उसी प्रकार एग्रोविजन इंडिया इम्प्लिमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड की शुरुआत के पीछे भी कारण था। हमने किसानों की जरुरतों को समझा कहीं न कहीं हमें लगा कि किसानों को कृषि की नई तकनीक की जरुरत है जो कि उनके लिए टिकाऊ और अच्छी हो। इसी को ध्यान में रखते हुए हमने इंडिया एग्रो विजन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की शुरुआत की।

एग्रोविजन इंडिया कौन-कौन से मुख्य उत्पाद बनाती है?

इंडिया एग्रोविजन सभी प्रकार के कृषि यन्त्र का निर्माण करती है। इन उत्पादों में रोटरी टिलर, डिस्क प्लो, डिस्क हैरो, ट्रॉयलर , मोल्ड बोर्ड प्लो, स्प्रिंग लोडेड टिलर्स, सब साइलर, कल्टीवेटर, रोटरी टिलर, लैंड लेवेलर, बैक.हों के साथ अन्य कृषि यन्त्र भी बनाए जा रहे हैं। इन सभी उत्पादों को आधुनिक कृषि तकनीक के जरिये तैयार किया जाता है। किसानों की जरुरत के अनुरूप इन उत्पादों का निर्माण किया जाता है। हम किसानों के भरोसे पर खरा उतर रहे हैं।

आपके अनुसार कृषि यंत्रीकरण से कृषि में क्या परिवर्तन आए हैं ?

यदि कृषि के क्षेत्र में हम यंत्रीकरण से परिवर्तन की बात करें तो इससे काफी बदलाव आए हैं। इसने कृषि का पूरा स्वरुप ही बदलकर रख दिया। नए.नए कृषि यंत्रों के इस्तेमाल से कृषि की लागत कम हो गई है, लेबर कॉस्ट कम हो गई है। सबसे बड़ी बात कि कृषि पैदावार पर इससे काफी फर्क पड़ा है। जिसके चलते किसानों को लाभ मिला है। कृषि यंत्रीकरण से एक नई कृषि क्रांति आई है। कृषि यंत्रीकरण की बदौलत भारत ने कृषि क्षेत्र में विश्वस्तर पर अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

आने वाले समय में इसमें और क्या बदलाव देखने को मिलेंगे ?

आने वाले समय में कृषि यंत्रीकरण का प्रभाव और अधिक बढ़ेगा। क्योंकि कृषि भूमि लगातार कम होती जा रही है। इसके चलते किसानों के ऊपर अधिक पैदावार बढ़ाने का दबाव बढ़ता जा रहा है इसलिए बिना आधुनिक तकनीकों और यंत्रीकरण के अधिक पैदावार लेना सम्भव नहीं है। जहां तक बदलाव का सवाल है तो कृषि तकनीकों में लगातार बदलाव होते रहेंगे और नई कृषि तकनीक आती रहेंगी।

अपने अनुसन्धान केंद्र और उत्पादों की गुणवत्ता के विषय में कुछ बताईए ?

उत्पादों की गुणवत्ता की यदि बात करें तो हमारे सभी उत्पाद आधुनिक कृषि तकनीक से लैस हैं। सभी उत्पादों पर शोध किया जाता है अनुसन्धान केंद्र में और उसका ट्रायल करने के बाद ही किसानों के लिए बाजार में लाया जाता है। इंडिया एग्रो विजन द्वारा बनाए गए कृषि यन्त्र उच्च गुणवत्ता वाले हैं । कंपनी का खुद का अनुसन्धान केंद्र है और पेशेवर लोगो की टीम है, यही कारण है कि किसानों को हमारे ऊपर भरोसा है।

एग्रोविजन इंडिया किन क्षेत्रों में कार्य कर रही है ?

एग्रोविजन विश्वस्तर पर कार्य कर रही है। विश्व के 18 से अधिक देशों में हमारी कंपनी एग्रोविजन ब्रांड नाम के साथ कार्य कर रही है। भारत में भी हम लगभग सभी राज्यों में कार्य कर रहे हैं। श्रीलंका, म्यांमार, नेपाल, थाईलैंड, केन्या, नाईजीरिया, दोहा, यूएसए, लाओस, युगांडा, बांग्लादेश, घाना, साउथ अफ्रीका आदि देशों में हमारे उत्पादों का एक्सपोर्ट होता है।

कृषि मशीनरी क्षेत्र के मौजूदा हालात कैसे हैं ?

यदि कृषि क्षेत्र के मौजूदा हालात की बात करें तो इस समय जीएसटी का इस इंडस्ट्री पर काफी प्रभाव पड़ा हैए पहले कृषि मशीनरी पर किसानों को कोई जीएसटी नहीं देना होता था लेकिन अब कृषि मशीनरी पर 12 प्रतिशत जीएसटी देना होता है। किसानों को कृषि यन्त्र खरीदना महंगा पड़ रहा है।

किसानों के लिए क्या सुझाव है ?

किसानों को मै यह बताना चाहता हूं कि कृषि यंत्रीकरण के कारण कृषि क्षेत्र में बड़े बदलाव हुए हैं, इसलिए किसानों को समय के अनुसार बदल जाना चाहिए। कृषि की नई तकनीकों का किसानों को इस्तेमाल करना चाहिए। किसानों को बताना चाहूंगा कि वो अच्छे और सही कृषि यंत्रा का चुनाव करें ताकि भविष्य में उनको कोई परेशानी न हो।

इमरान खान

कृषि जागरण, नई दिल्ली

Comments



Jobs